योगी सरकार ने बजट में वाराणसी के लिए खोला खजाना, 400 करोड़ की लागत से खुलेगा मेडिकल कॉलेज

वाराणसी, 05 फरवरी (हि.स.)। उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार के लगातार दूसरे कार्यकाल की तीसरा आम बजट सोमवार को वित्तमंत्री सुरेश खन्ना ने विधानसभा में पेश किया। बजट में प्रदेश सरकार ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी के लिए खजाना खोल दिया।

इस बजट में वाराणसी में मेडिकल कॉलेज के लिए 400 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है। नये मेडिकल कालेज के बनने से स्वास्थ्य सेवाओं का विस्तार होगा। मेडिकल कालेज से वाराणसी समेत पूर्वांचल के विभिन्न जनपदों में मेडिकल की पढ़ाई करने वाले छात्रों को भी सुविधा रहेगी।

वित्त मंत्री सुरेश खन्ना के अनुसार उत्तर प्रदेश में 65 मेडिकल कॉलेज है। जिनमें 35 राज्य सरकार और 30 निजी क्षेत्र द्वारा संचालित किए जाते हैं। वर्तमान में 45 जनपद मेडिकल कॉलेज से आच्छादित किया जा चुके हैं। इसके अलावा 14 जनपदों में केंद्र सरकार द्वारा वित्त पोषित मेडिकल कॉलेज निर्माणाधीन है। बजट में वाराणसी के लिए नेशनल इन्स्टीट्यूट ऑफ फैशन टेक्नोलाजी (निफ्ट) की स्थापना के लिए भूमि क्रय को 150 करोड़ रुपए का बजट का प्रावधान है।

गौरतलब हो कि इस बार योगी सरकार ने 7.36 लाख करोड़ से ज्यादा बजट पेश किया है। इसमें 24 हजार करोड़ की नई योजनाएं हैं। बजट में संत रविदास शिक्षा सहायता योजना एवं मेधावी छात्र पुरस्कार योजना को एकीकृत करते हुए नई योजना ‘संत रविदास शिक्षा प्रोत्साहन योजना’ कर दिया गया है। इस योजना के अन्तर्गत माह नवम्बर, 2023 तक 1,86,270 छात्र छात्राओं को लाभ हुआ तथा लगभग 58 करोड़ 46 लाख रुपये की धनराशि व्यय की गई। निर्माण श्रमिकों के बच्चों को निःशुल्क गुणवत्तापूर्ण एवं उद्देश्यपरक शिक्षा उपलब्ध कराने के लिए प्रत्येक मण्डल में एक-एक अटल आवासीय विद्यालय स्थापित किए जा रहे हैं जिसकी कुल निर्माण लागत 1267 करोड़ रुपये है। 16 अटल आवासीय विद्यालयों का लोकार्पण प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कर चुके हैं।