पीला रंग वास्तु: घर की इस दिशा में पीले रंग का प्रयोग न करें, इससे धन पर बुरा प्रभाव पड़ेगा

पीला रंग वास्तु: वास्तु शास्त्र में दिशाओं के साथ-साथ रंगों का भी बहुत महत्व होता है। अगर घर का निर्माण वास्तु के अनुसार किया जाए तो कई समस्याओं का समाधान हो सकता है। वहीं अगर घर वास्तु के अनुसार नहीं है तो घर के सदस्यों के स्वास्थ्य पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है। साथ ही धन की आमद में भी रुकावट आती है। वास्तु के अनुसार पीला रंग बहुत ही शुभ माना जाता है। पीले रंग का प्रयोग कई शुभ अवसरों पर किया जाता है। कहा जाता है कि पीला रंग घर में सकारात्मक ऊर्जा का संचार करता है। जिससे घर में सुख-शांति आती है।

वास्तु के अनुसार कार्यस्थल पर उन्नति के लिए पीला रंग अच्छा माना जाता है। इससे उन्नति के मार्ग खुलते हैं। पीला रंग सकारात्मक ऊर्जा का केंद्र माना जाता है।

घर को पीले फूलों से सजाना शुभ माना जाता है। कहा जाता है कि इससे घर में सकारात्मक ऊर्जा का प्रभाव बढ़ता है। इससे घर में सुख-शांति का वातावरण बना रहता है।

वास्तु के अनुसार अगर घर के बेडरूम में पीले रंग की दीवारों को रंगा जाए तो पति-पत्नी के रिश्ते मधुर रहेंगे। यह दांपत्य जीवन में खुशियां लाता है।

घर की आग्नेय दिशा में पीला रंग इस रंग से जुड़ी दिशाओं के तत्वों को नुकसान पहुंचाता है। इस दिशा में कहा जाता है कि दक्षिण-पूर्व दिशा में पीला रंग धारण करने से माता की हानि होती है। वास्तु के अनुसार उत्तर-पूर्व दिशा में भी पीला रंग नहीं लगाना चाहिए।

गहरे पीले रंग का प्रयोग कदापि नहीं करना चाहिए। पीले के साथ लाल रंग का प्रयोग करने से बचें।

Check Also

मीन राशि में किसी क्रूर ग्रह के प्रवेश से इन लोगों के भाग्य खुलेंगे, धन लाभ की प्रबल संभावना

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार राहु-केतु को मायावी और पाप ग्रहों में से एक माना जाता …