Winter Food: कोरोना महामारी और सर्दी में खाएं साग, इम्यूनिटी बढ़ाने समेत शरीर की गर्मी रखेगा बरकरार

सर्दी के मौसम में आसानी से मुहैया और ज्यादा खाई जानेवाली सब्जी साग के अनगिनत फायदे हैं. विशेषज्ञों के मुताबिक, हरे पत्तेवाली सब्जी साग के खाने से इंसान के संपूर्ण स्वास्थ्य पर सकारात्मक असर पड़ता है. उसमें मौजूद आयरन की भरपूर मात्रा खून की कमी को दूर करता है और पाचन तंत्र से जुड़ी शिकायतों को खत्म कर इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाता है.

 

विशेषज्ञों का कहना है कि सरसों के साग के एक कप में 196 कैलोरी पाई जाती है. इसके अलावा, 613 मिलिग्राम सोडियम, 839 मिलिग्राम पोटैशियम, 5.2 ग्राम प्रोटीन, 9.7 ग्राम कार्बोहाइड्रेट्स मिलते हैं और विटामिन ए 205 फीसद, विटामिन सी 134 फीसद, 19 फीसद कैल्शियम और 33 फीसद आयरन पाया जाता है.

 

आयरन की कमी से निजात

 

सरसों का साग आयरन की कमी के नतीजे में आनेवाली मुसीबत से छुटकारा मिलता है. आयरन से भरपूर हरे पत्तों वाली सब्जी शरीर में मौजूद हिमोग्लोबीन की कोशिकाओं की वृद्धि करती है. जिससे स्वाभाविक तौर पर खून की कमी की समस्या होल हो जाती है.

 

पेट से जुड़ी बीमारी में मुफीद

 

साग आसानी से पचने वाला फूड है. साग में फाइबर की मौजूदगी आंत और पेट से जुड़ी शिकायत से छुटकारा दिलाता है. पाचन को दुरस्त बनाता है और मेटाबोलिज्म की रफ्तार तेज कर सर्दी में अपच की शिकायत खत्म करता है.

 

पेट फूलने की शिकायत करे दूर

 

सर्दी के दौरान अधिकतर लोगों के पेट फूलने की शिकायत बढ़ जाती है. जिससे उठने-बैठने में भी तकलीफ का सामना करना पड़ता है. पेट का फूल जाना या पेट में हवा भर जाने से चलना-फिरना दुश्वार हो जाता है. इसलिए, राहत के लिए साग को फूड के तौर पर इस्तेमाल किया जा सकता है.

 

सर्दी लगने से बचाए साग

 

मकई का आटा ग्लूटीन मुक्त और असर में गर्म होता है. मकई की रोटी बनाकर सर्दी की मशहूर और स्वादिष्ट डिश साग के साथ इस्तेमाल करें. आयरन से भरपूर साग में विटामिन बी कॉम्पेक्स, विटामिन ए, सी, विटामिन, बीटा केरोटीन पाया जाता है. ये स्किन, बाल, दिल और दिमाग की सेहत समेत पाचन के लिए भी बेहतरीन है. साग इम्यूनिटी बढ़ाने के साथ सर्दी में ठंड लगने से भी बचाता है और शरीर की गर्मी बरकरार रखता है.

Check Also

ब्रेस्‍ट को शेप में रखने के लिए महिलाएं जरूर अपनाएं ये तीन घरेलू उपाय

स्तनों का विकास जीवन भर चलता है। स्तन जो कि एडीपोस और ग्लेनड्यूलर नामक कोशिका …