क्या नवजोत सिंह सिद्धू फिर से बीजेपी में शामिल होंगे? लोकसभा चुनाव से पहले ‘गुरु’ के काम ने बढ़ाई कांग्रेस की टेंशन

पंजाब राजनीति: नवजोत सिंह सिद्धू हमेशा से पंजाब कांग्रेस के लिए मुसीबतें खड़ी करते रहे हैं। एक तरफ पंजाब में कांग्रेस लोकसभा चुनाव को लेकर आम आदमी पार्टी के साथ गठबंधन करने की कोशिश कर रही है, वहीं दूसरी तरफ नवजोत सिंह सिद्धू ने कांग्रेस के लिए नई मुसीबत खड़ी कर दी है. सिद्धू पार्टी की अहम बैठकों में भी शामिल नहीं हो रहे हैं. इसी वजह से पंजाब कांग्रेस चिंतित है. सूत्रों के मुताबिक, पंजाब कांग्रेस ने सीधे कांग्रेस हाईकमान से सिद्धू के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है.

खबर है कि कांग्रेस की पंजाब इकाई के कुछ वरिष्ठ नेताओं ने सिद्धू के रवैये पर नाराजगी जताई है. इन नेताओं ने कांग्रेस हाईकमान को पत्र लिखकर मांग की है कि अनुशासनहीनता के लिए सिद्धू के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए. पंजाब कांग्रेस की ओर से भेजी गई रिपोर्ट में कहा गया है कि सिद्धू पार्टी लाइन पर नहीं चल रहे हैं, बल्कि अलग खिचड़ी पकाने लगे हैं.

नवजोत सिंह सिद्धू पंजाब कांग्रेस चुनाव समिति के सदस्य हैं। हालांकि, वह 1 फरवरी की बैठक में शामिल नहीं हुए. उन्होंने अलग से बैठक बुलाई, जिसकी फोटो उन्होंने सोशल मीडिया पर भी शेयर की. राजनीतिक विश्लेषकों का मानना ​​है कि सिद्धू पंजाब कांग्रेस नेताओं के खिलाफ शक्ति प्रदर्शन कर रहे हैं.

दोनों नेताओं पर पहले ही कार्रवाई हो चुकी है

सूत्रों का यह भी कहना है कि सिद्धू ने पंजाब कांग्रेस प्रभारी और महासचिव देवेंद्र यादव के कॉल और संदेशों का जवाब नहीं दिया. बता दें कि इससे पहले भी सिद्धू ने पार्टी की इजाजत के बिना रैली की थी, जिसे लेकर विवाद हुआ था. इस मामले में पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष अमरिंदर सिंह राजा वडिंग, पूर्व विधायक महेशिंदर निहालसिंहवाला और उनके बेटे धर्मपाल सिंह को पार्टी से निलंबित कर दिया गया था.

सोशल मीडिया पर शायरी शेयर करें

एक तरफ सिद्धू पार्टी से अलग चल रहे हैं तो दूसरी तरफ सोशल मीडिया पर शायरी शेयर कर रहे हैं. हाल ही में सिद्धू ने एक्स पर लिखा था कि, ‘ये दबदबा, ये हकूमत, ये नशा, ये दौलत! उप-किरायेदार अरे, घर बदलो!’ इसके अलावा उन्होंने कुछ दिन पहले एक्स पर लिखा था कि, ‘हुनर होगा तो दुनिया कद्र करेगी, अदिया उठने से किरदार ऊंचे होते नहीं।’ सवाल उठने लगा है कि क्या पंजाब की राजनीति में एक बार फिर नवजोत सिंह सिद्धू पलटी मार कर बीजेपी में जा सकते हैं?