क्या 650 अरब डॉलर के निर्यात का रिकॉर्ड बना पाएगा भारत? पीयूष गोयल का है भरोसा

वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल (Piyush Goyal) का मानना है कि चालू वित्त वर्ष में 650 बिलियन डॉलर के एक्सपोर्ट (India Export) का लक्ष्य आसानी से हासिल किया जा सकता है. निर्यातक समुदायों को संबोधित करते हुए गोयल ने उन्हें पूर्ण समर्थन का भरोसा दिलाया और कहा कि 31 मार्च 2022 को समाप्त हो रहे वित्त वर्ष में देश का गुड्स एक्सपोर्ट 400 बिलियन डॉलर और सर्विस एक्सपोर्ट के लिए 250 बिलियन डॉलर का लक्ष्य आसानी से हासिल किया जा सकता है. एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल को संबोधित करते हुए गोयल ने कहा कि जनवरी महीने में 15 तारीख तक निर्यात का आंकड़ा 16 अरब डॉलर तक पहुंच चुका है.

गोयल ने कहा कि चालू वित्त वर्ष के लिए 650 अरब डॉलर का निर्यात लक्ष्य हासिल होने योग्य है. उन्होंने कहा, ‘उत्पादों का निर्यात आंकड़ा 400 अरब डॉलर पहुंचने की गुंजाइश है और सेवा क्षेत्र का निर्यात भी 250 अरब डॉलर तक पहुंचाने की कोशिश होनी चाहिए.’ उन्होंने एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल यानी EPCs को भरोसा दिलाया कि अगले वित्त वर्ष में कहीं ऊंचा निर्यात लक्ष्य हासिल करने के लिए सरकार उनको पूरा समर्थन देगी और उनके मुद्दों को सुलझाने के लिए कदम उठाएगी.

1 ट्रिलियन डॉलर का होगा सर्विस एक्सपोर्ट

गोयल ने कहा कि देश के सर्विस एक्सपोर्ट में IT सेक्टर का बड़ा योगदान होगा. इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी सेक्टर की मदद से देश के सर्विस एक्सपोर्ट को आने वाले दिनों में 1 ट्रिलियन डॉलर तक पहुंचाया जा सकता है. हालांकि, इस लक्ष्य को पाने में एक दशक का वक्त लगेगा. उन्होंने आईटी इंडस्ट्री के उस प्रस्ताव का स्वागत किया जिसमें कहा गया कि देश के टायर-2, टायर-3 शहरों को नया आईटी हब बनाना होगा. इससे रोजगार में भारी उछाल आएगा.

दिसंबर में निर्यात में 39 फीसदी का उछाल

बता दें कि इंजीनियरिंग, कपड़ा और रसायन जैसे क्षेत्रों के बढ़िया प्रदर्शन के कारण दिसंबर 2021 में देश का निर्यात (India export in December) सालाना आधार पर 38.91 फीसदी बढ़कर 37.81 अरब डॉलर हो गया. हालांकि दिसंबर में ही व्यापार घाटा (Trade deficit in December) बढ़कर 21.68 अरब डॉलर हो गया. इन आंकड़ों के मुताबिक दिसंबर 2021 में आयात 38.55 फीसदी बढ़कर 59.48 अरब डॉलर हो गया.

9 महीने में मर्चेंडाइज एक्सपोर्ट 301 बिलियन डॉलर

अप्रैल से दिसंबर 2021-22 के बीच निर्यात 49.66 फीसदी बढ़कर 301.38 अरब डॉलर हो गया. आंकड़ों के मुताबिक इस अवधि के दौरान आयात 68.91 फीसदी बढ़कर 443.82 अरब डॉलर हो गया, जिससे व्यापार घाटा 142.44 अरब डॉलर हो गया. वाणिज्य मंत्रालय ने एक बयान में कहा, ‘‘दिसंबर 2021 में व्यापारिक निर्यात 37.81 अरब डॉलर था जो दिसंबर 2020 में 27.22 अरब डॉलर था. यह 38.91 फीसदी की सकारात्मक वृद्धि दर्शाता है.’’

Check Also

इस गर्मी में आम की कीमतें नीचे क्यों नहीं आ रही

नई दिल्ली: गर्मियों में ‘फलों के राजा’ आम ने फल प्रेमियों के बीच कड़वा स्वाद छोड़ …