आखिर क्यों गुपचुप तरीके से किया गया था RAJKUMAR का अंतिम संस्कार? मौत के कई घंटो बाद हुआ था खुलासा।

राजकुमार (Rajkumar) फिल्मी दुनिया में एक ऐसा नाम  है जो अपनी छवि के साथ-साथ अपनी आवाज की कशिश और एक्टिंग के हुनर के लिए जाने जाते थे। राजकुमार जितने फिल्मी पर्दे पर बेबाक थे उतने ही वो निजी जीवन में खुलकर बोलने वाले इंसान थे। 80 से 90 के दशक में राजकुमार अपने अभिनय के जरिए लाखों-करोड़ों लोगों को अपना दीवाना बना चुके हैं। हर कोई उनके डायलॉग डिलीवरी का आज भी मुरीद है।

 

 

 

 

सिर्फ यही नहीं राजकुमार को उनकी अदाकारी के लिए कई बड़े-बड़े पुरस्कारों से भी नवाजा जा चुका था।  80 के दशक में सबसे ज्यादा अवार्ड अपने नाम करने वाले अभिनेताओं में राजकुमार का नाम टॉप लिस्ट में शामिल था।राजकुमार की फैन फॉलोइंग दुनिया भर में फैली हुई थी। लाखों- करोड़ों लोग उनकी एक झलक पाने के लिए बेताब रहते थे।

 

 

 

ऐसे में यह बात बेहद अजीब थी कि जब राजकुमार का अंतिम संस्कार हुआ, तो इस दौरान उनके फैंस को खबर नहीं दी गई। उनका अंतिम संस्कार बेहद गुपचुप तरीके से किया गया था। जहां परिवार के चंद लोग ही मौजूद हुए थे। उनके फैंस आज भी इसके पीछे की वजह नहीं जान पाए है कि आखिर राजकुमार का अंतिम इतने गुपचुप तरीके से क्यों किया गया? तो आइए आज हम आपको बताते है इसके पीछे का रहस्य।

 

दरअसल एक समय के बाद राजकुमार को गले में कैंसर हो गया। उन्हें खाने पीने को लेकर तथा सांस लेने में तकलीफ होने लगी। राजकुमार की तबीयत लगातार बिगड़ती जा रही थी, लेकिन ऐसे हालातों में भी वो नहीं चाहते थे कि लोगों को उनकी बीमारी के बारे में पता चले। यह बात सिर्फ वह और उनके बेटे पुरू राजकुमार ही जानते थे।

 

 

गले में कैंसर के चलते राजकुमार की तबीयत लगातार बिगड़ती जा रही थी और ऐसे में 3 जुलाई 1996 को राजकुमार ने दुनिया को अलविदा कह दिया।

 

मीडिया रिपोर्ट की मानें तो राजकुमार को अपनी मौत का एहसास एक रात पहले ही हो गया था। ऐसे में मरने से पहले उन्होंने अपने पूरे परिवार को बुलाया और कहा, देखो शायद मैं आज रात भी निकाल पाऊं और मैं चाहता हूं कि मेरे मरने के बाद मेरा अंतिम संस्कार करना, मुझे जला लेना, उसके बाद ही मेरे मरने की खबर किसी को देना।

 

दरअसल राजकुमार के इस फ़ैसले के पिछे एक बड़ी वजह थी। उनका मानना था कि मरने के बाद सब को बुलाकर भीड़ इकट्ठा करना बेकार की नौटंकी है। वह यह भी नहीं चाहते थे कि कोई भी उनका मरा हुआ शरीर या चेहरा देखें। इसलिए वह चाहते थे कि उनका अंतिम संस्कार सिर्फ परिवार के लोगों के बीच में ही किया जाए। यही कारण था कि जब राजकुमार का निधन हुआ तो सिर्फ परिवार वालों की मौजूदगी में ही उनका अंतिम संस्कार किया गया।

 

 

वही राजकुमार अपने पीछे 3 बच्चे और पत्नी गायत्री को छोड़कर चले गए थे। बता दे राजकुमार के दो बेटे हैं। उनके बड़े बेटे का नाम पूरू राजकुमार और छोटे का नाम पाणिनी राजकुमार है। राजकुमार की एक बेटी भी है, जिसका नाम वास्तविकता है।

Check Also

19 साल की उम्र में ऐसी दिखती थीं Disha Patani, ट्रांसफॉर्मेशन देख लगेगा झटका

नई दिल्ली: बॉलीवुड की ब्यूटीक्वीन और स्टाइल आइकॉन एक्ट्रेस दिशा पाटनी (Disha Patani) की वैसे तो …