चोट लगने पर क्यों लगाया जाता है टिटनेस का इंजेक्‍शन, जानें इसके फायदे

कई बार काम करते वक्त या बच्चों के खेलते वक्त चोट लग जाती है। आजकल गलत खान पान के कारण इंसान बीमारी का शिकार हो जाता है। टिटनेस एक प्रकार का गंभीर बैक्‍टीरियल संक्रमण होता है जिसका प्रत्‍यक्ष प्रभाव, व्‍यक्ति के तंत्रिका तंत्र पर पड़ता है। टिटनेस को लॉकजॉ भी कहा जाता है क्‍योंकि इसकी चपेट में आने पर व्‍यक्ति की मांसपेशियों में भयानक कठोरता आ जाती है और मौत हो सकती जाती है।

टिटनेस इंजेक्‍शन के फायदे:

# शरीर के जिन हिस्‍सों में ऑक्‍सीजन सबसे कम पाई जाती हैं वहां भी अच्‍छी खासी ग्रोथ कर लेते हैं। ऐसे में अगर किसी भी व्‍यक्ति को चोट या खरोंच लग जाती है तो उसे शीघ्र की इस इंजेक्‍शन लगवाने की सलाह दी जाती है।

# यह इंजेक्‍शन इन कीटाणुओं को नष्‍ट करने के लिए अपना प्रभाव दिखाता है और कभी-कभी व्‍यक्ति को इसकी वजह से कुछ हल्‍की सी समस्‍या भी हो सकती है।

# जब टिटनेस के बैक्‍टीरिया शरीर में एक्टिव होते हैं तो वे एक प्रकार का विष छोड़ने लगते हैं जो नर्व से कनेक्‍ट हो जाते हैं और घाव के आसपास फैल जाते हैं।

# इस इंजेक्‍शन को लगवाने के बाद संक्रमण होने का खतरा दूर हो जाता है और व्‍यक्ति को अगले कुछ दिनों तक भी चोट लगने पर टिटनेस होने का खतरा नहीं रहता है।

Check Also

लिप सर्जरी करा रही हैं तो ध्यान रखें ये बातें

  सुंदर होंठ सभी लड़कियों की पहली पसंद होती है। इससे चेहरे की सुंदरता और …