पीएम मोदी के बाद कौन संभालेगा बीजेपी का नेतृत्व? देखिए मशहूर रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने क्या कहा

चुनावी रणनीतिकार के तौर पर मशहूर हो चुके प्रशांत किशोर ने बीजेपी को लेकर बड़ी टिप्पणी की है. उन्होंने कहा: आज हर चुनाव में बीजेपी का पीएम है. मोदी के नाम पर जीतना बीजेपी के लिए सबसे बड़ी ताकत भी है और सबसे बड़ी समस्या भी. पत्रकारों को दिए इंटरव्यू में उन्होंने कहा, ‘बीजेपी की सबसे बड़ी समस्या यह है कि वह नरेंद्र मोदी पर बेहद निर्भर है.’

जो आएगा वह और अधिक कट्टरपंथी होगा…

इस दौरान जब उनसे पूछा गया कि ‘नरेंद्र मोदी के बाद बीजेपी का नेतृत्व कौन करेगा? फिर पी.के. इस चुनावी रणनीतिकार के बारे में कहा जा रहा है, ‘मैं यह नहीं कह सकता कि नरेंद्र मोदी के बाद कौन आएगा लेकिन उनके बाद जो भी आएगा वह और अधिक कट्टरपंथी होगा।’ उन्होंने बीजेपी-जेडीयू रिश्ते पर भी टिप्पणी की और कहा कि बीजेपी ने नीतीश कुमार को इसलिए साथ लिया है ताकि विपक्षी एकता को खत्म किया जा सके. नीतीश कुमार भी जानते हैं कि बीजेपी जेडीयू को निगल चुकी है लेकिन जो हुआ है उसके सहारे वह कुछ और समय तक मुख्यमंत्री बने रहना चाहते हैं. लेकिन अब उनकी पार्टी अपने आखिरी पड़ाव पर है.

पीके ने ज्यादातर राजनीतिक पार्टियों के लिए काम किया है. 

बीजेपी, कांग्रेस और टीएमसी समेत कई पार्टियों के साथ काम कर चुके पीके ने कहा कि कांग्रेस आधार योजना लेकर आई लेकिन इसका फायदा नहीं उठा पाई. उस योजना को लोगों तक पहुंचाने का फायदा बीजेपी ने उठाया अब कांग्रेस श्रेय लेने की बात कर रही है लेकिन अब बहुत देर हो चुकी है. बीजेपी ने सभी योजनाओं को आधार से जोड़ दिया है. मंडल के नाम पर पुरुषों को एक साथ लिया गया, ‘मंदिर’ के नाम पर महिलाओं को एक साथ लिया गया। इस तरह बीजेपी ने महिलाओं को अपना वोट बैंक बनाया. मोदी के बारे में उन्होंने कहा कि वह लगातार अपनी छवि बदल रहे हैं, यही वजह है कि वह लगातार चुनाव जीत रहे हैं. इसके साथ ही उन्होंने राहुल गांधी की ‘भारत जोड़ो न्याय यात्रा’ पर भी सवाल उठाए. पीके ने कहा, मैं कांग्रेस से लगातार कहता रहा हूं कि आप नए अवतार में आएं, राजनीति शेयर बाजार की तरह है। कोई भी दूसरे के आधार पर छलांग नहीं लगा सकता. कभी आप ‘राफेल’ डील की बात करते हैं, कभी आप हिंदुत्व की बात करते हैं। ये सब सफल नहीं हो सकते. आपको अपने मुद्दों पर कायम रहना है और उन्हें लेकर जनता के बीच जाना है, संदेश देना है.