मोटापे से किन बीमारियों का खतरा होता है? स्वास्थ्य विशेषज्ञों से जानिए कैसे रखें ख्याल!

मोटापा आज के समय की सबसे आम समस्याओं में से एक है। मोटापे से मधुमेह, उच्च रक्तचाप और यहां तक ​​कि हृदय रोग का खतरा भी बढ़ जाता है। मोटापे के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए हर साल 4 मार्च को विश्व मोटापा दिवस मनाया जाता है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों के मुताबिक खराब जीवनशैली के कारण ज्यादातर लोगों को मोटापे की समस्या का सामना करना पड़ रहा है।

जयपुर के नारायणा हॉस्पिटल में पेट, आंत और लीवर रोग विशेषज्ञ डॉ. अमित सांघी का कहना है कि अनियमित जीवनशैली और असंतुलित खान-पान के कारण लोगों का शारीरिक संतुलन काफी बिगड़ रहा है। दरअसल, जब किसी व्यक्ति के शरीर में वसा की मात्रा बढ़ जाती है तो व्यक्ति का वजन धीरे-धीरे अनावश्यक रूप से बढ़ने लगता है। इसकी वजह से कई गंभीर समस्याएं होने लगती हैं।

 

इन बीमारियों का खतरा

डॉ. अमित सांघी का कहना है कि बढ़ते मोटापे के कारण रोजाना अत्यधिक पसीना आना, हमेशा थकान महसूस होना, मांसपेशियों में दर्द, सांस लेने में दिक्कत, एसिडिटी, गैस्ट्रोएसोफेगल रिफ्लक्स डिजीज (जीईआरडी) और खर्राटे जैसी समस्याएं होने लगती हैं. इसके अलावा कैंसर जैसी कई गंभीर समस्याओं का खतरा भी बढ़ जाता है। मोटापा सीधे तौर पर शरीर में उच्च रक्तचाप और कोलेस्ट्रॉल के स्तर को खराब करता है, जिससे हृदय रोग और स्ट्रोक का खतरा बढ़ जाता है।

इससे टाइप 2 डायबिटीज का भी खतरा रहता है। मोटापे के कारण महिलाओं में ऑस्टियोआर्थराइटिस का खतरा तीन से चार गुना तक बढ़ जाता है। अधिक वजन के कारण जोड़ों पर यांत्रिक तनाव बढ़ने से सूजन और गठिया का खतरा भी बढ़ जाता है।

देखभाल कैसे करें

स्वास्थ्य विशेषज्ञों के मुताबिक, यह समझना जरूरी है कि स्वस्थ जीवनशैली और अच्छी डाइट अपनाकर आप मोटापे की समस्या से बच सकते हैं। मोटापा कम करने के लिए सुबह की सैर, दौड़ना, साइकिल चलाना, तैराकी और नियमित व्यायाम को अपनी जीवनशैली में शामिल करें। इसके साथ ही आपको डॉक्टर से भी सलाह लेनी चाहिए।