जब सब कुछ ही निजी हाथों में देना है तो फिर संसद और सरकार की क्या जरूरत : राणा

धर्मशाला, 24 जून (हि.स.)। प्रदेश कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष एवं सुजानपुर के विधायक राजेंद्र राणा ने कहा है कि भाजपा के राज में यूं तो दो विधानसभा चुनाव क्षेत्रों को छोड़ दिया जाए तो बाकी 66 विधानसभा क्षेेत्रों की अनदेखी हुई है। उन्होंने कहा कि इनमें भाजपा के राज में प्रदेश के सबसे बड़े जिला कांगड़ा की सबसे ज्यादा अनदेखी हुई है। भाजपा के राज में जहां एक ओर कांगड़ा का विकास शून्य हुआ है, वहीं दूसरी ओर कांगड़ा के सियासी महत्व को भी भाजपा ने गौन करने का प्रयास किया है।

राजेंद्र राणा ने यह बात शुक्रवार को कांगड़ा संसदीय क्षेत्र के दौरे के दौरान विभिन्न ब्लॉक सम्मेलनों में कांग्रेस कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कही। जिला के शाहपुर मंडल पंहुचे राजेंद्र राणा का कांगे्रस नेता केवल सिंह पठानिया और स्थानीय कार्यकर्ताओं ने स्वागत किया। पार्टी की मजबूती के लिए राजेंद्र राणा कांगड़ा संसदीय क्षेत्र के दौर पर थे। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार की नाकामी के कारण कांगड़ा की जनता के साथ-साथ पूरे प्रदेश की जनता भाजपा को सत्ता से बाहर करेगी। उन्होंने कहा कि अब अच्छे दिनों के नाम पर बुरा वक्त लाने वाली भाजपा जाने वाली है और कांग्रेस सरकार आने वाली है।

राणा ने कहा कि भाजपा की स्वार्थी नीतियों ने सरकारों के अस्तित्व पर ही संकट ला खड़ा किया है। भाजपा को और अमीर पार्टी बनाने के लिए देश की सरकारी संपत्तियों-परिसंपत्तियों को बेचकर दलाली का खुला खेल खेला जा रहा है। उन्होंने कहा कि सवाल यह उठता है कि जब बीएसएनएल प्राइवेट होगा, बैंक प्राइवेट होंगे, रेलवे प्राइवेट होगा, किसानी प्राइवेट हाथों में होगी और अब अग्निपथ के नाम पर एक तरह से सेना का भी निजीकरण करने के मंसूबे सरकार जाहिर कर रही है।

Check Also

वडोदरा से भेजी एनडीआरएफ की 5 टीमें, तीन टीमें राजकोट, एक टीम सूरत, एक टीम बनासकांठा

वडोदरा के पास जारोद में राष्ट्रीय आपदा राहत बल (एनडीआरएफ) की बटालियन 6 की स्थापना के बाद मध्य गुजरात ।) …