WhatsApp पर न शेयर करें वेरिफिकेशन कोड व दूसरे डेटा, नहीं तो हो जाएगा फ्रॉड

व्हाट्सऐप (WhatsApp) पर एक नया धोखाधड़ी का तरीका सामने आया है जिसमें एक अकाउंट जो व्हाट्सऐप के तकनीकी स्टाफ से होने का दावा करता है, वह यूजर्स से उनकी वेरिफिकेशन कोड को शेयर करने के लिए कह रहा है. यूजर्स को राजी करने के लिए अकाउंट में प्रोफाइल इमेज के तौर पर व्हाट्सऐप लोगो का इस्तेमाल कर रहा है. इस बात का ध्यान रखना जरूरी है कि व्हाट्सऐप की टीम मैसेजिंग ऐप का इस्तेमाल यूजर्स से संपर्क करने के लिए नहीं करती है और इसकी जगह किसी सावर्जनिक अपडेट के बारे में बताने के लिए सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स का इस्तेमाल करता है. वह फेसबुक या कंपनी की आधिकारिक वेबसाइट को इस्तेमाल करता है.

WABetaInfo ने मामले के बारे में बताया

व्हाट्सऐप के फीचर्स और अपडेट की जानकारी देने वाले प्लेटफॉर्म WABetaInfo ने ट्वीट कर इस नए स्कैम के बारे में बताया है. ट्विटर पर एक यूजर Dario Navarro ने एक संदिग्ध मैसेज के बारे में पूछा जो उसे भेजा गया था. उसने एक स्क्रीनशॉट शेयर किया जिसमें स्पैनिश भाषा का एक मैसेज लिखा गया था. इसमें यूजर से अपनी पहचान को वेरिफाई करने के लिए छह संख्या का वेरिफिकेशन कोड भेजने के लिए कहा गया जो एक एसएमएस में आया.

वेरिफेकशन कोड का इस्तेमाल व्हाट्सऐप अकाउंट को नए डिवाइस पर एक्टिवेट करने के लिए किया जाता है. इसका लक्ष्य मैसेजिंग ऐप पर यूजर के अकाउंट को किसी बुरे खतरे से सुरक्षित रखना होता है.

 

यूजर से कभी डेटा शेयर करने के लिए नहीं कहा जाता

व्हाट्सऐप ऐप पर यूजर्स से कभी भी संपर्क नहीं करता है और किसी दुर्लभ स्थिति में भी लोगो और अकाउंट के नाम के साथ एक हरे रंग का चिन्ह दिया होगा. यह याद रखना भी महत्वपूर्ण है कि फेसबुक के स्वामित्व वाली कंपनी यूजर्स के किसी भी डेटा को शेयर करने के लिए नहीं कहती है जिसमें ऑथेंटिकेशन कोड भी शामिल है.

Check Also

वॉरेन बफेट को पीछे छोड़ दुनिया के सातवें सबसे अमीर व्यक्ति बने मुकेश अंबानी

नई दिल्ली-एशिया के सबसे अमीर रिलायंस इंडस्ट्रीज के मुकेश अंबानी ने अपनी जिदंगी में एक …