साप्ताहिक शेयर समीक्षा- शुरुआती तेजी को अंत तक संभाल नहीं सका शेयर बाजार

नई दिल्ली :  शुक्रवार यानी 14 मई को समाप्त हुआ कारोबारी सप्ताह भारतीय शेयर बाजार के लिए मिले जुले परिणाम वाला रहा। अंतरराष्ट्रीय शेयर बाजारों के दबाव के बीच घरेलू परिस्थितियां पूरे सप्ताह शेयर बाजार पर हावी होती नजर आईं। इसकी वजह से सप्ताह के दौरान शेयर बाजार का ओवरऑल प्रदर्शन गिरावट वाला ही रहा।
कोरोना संक्रमण की वजह से कई राज्यों में लॉकडाउन का विस्तार किया गया, जिससे अर्थव्यवस्था को झटका लगने की आशंका जताई गई। इससे भी भारतीय शेयर बाजार दबाव में आया। दूसरी ओर उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (सीपीआई) और औद्योगिक उत्पादन सूचकांक (आईआईपी) के उत्साह बढ़ाने वाले आंकड़ों से भारतीय शेयर बाजार को समर्थन भी मिला। दिग्गज कंपनियों के तिमाही परिणाम भी अमूमन बाजार को संबल पहुंचाने वाले ही रहे लेकिन सप्ताह के आखिरी दो कारोबारी सत्र के दौरान शेयर बाजार में बिकवाली का ही दबाव बना रहा।
पिछले कारोबारी हफ्ते के दौरान बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का सेंसेक्स 473.92 अंक की कमजोरी के साथ 0.96 फीसदी गिरकर 48732.55 अंक के स्तर पर बंद हुआ। वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के निफ्टी ने 145.35 अंक की गिरावट के साथ 0.98 फीसदी की कमजोरी दिखाते हुए 14677.80 अंक के स्तर पर पिछले सप्ताह के अपने कारोबार का अंत किया।
इस कारोबारी हफ्ते के दौरान बीएसई का मिडकैप इंडेक्स 0.49 फीसदी गिर गया। इसमें जिंदल स्टील एंड पावर, चोलामंडलम इन्वेस्टमेंट एंड फाइनेंस कंपनी, अडाणी इंटरप्राइजेज, स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया, नैरोलेक पेंट्स, इन्फो एज इंडिया जैसी दिग्गज कंपनियों ने कमजोरी का दबाव बनाया। वहीं बैंक ऑफ इंडिया, यूनियन बैंक ऑफ इंडिया, भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स और ग्लैंड फार्मा के शेयरों में पिछले कारोबारी हफ्ते के दौरान 8 से 17 फीसदी तक का उछाल आया‌।
मिड कैप इंडेक्स की तरह ही पिछले कारोबारी सप्ताह के दौरान बीएसई के लार्ज कैप इंडेक्स में भी 0.78 फीसदी की गिरावट देखने को मिली। सप्ताह भर के कारोबार में जेएसडब्ल्यू स्टील, बंधन बैंक, अदाणी पोर्ट्स, ग्रासिम इंडस्ट्रीज और हिंडाल्को इंडस्ट्रीज जैसी कंपनियों के शेयरों ने कमजोरी दिखाकर बाजार पर दबाव बना दिया। वहीं सिमेंस, कोल इंडिया, गोदरेज कंज्यूमर प्रोडक्ट्स, एशियन पेंट्स और टाटा मोटर्स जैसी कंपनियों के शेयरों ने तेजी की चाल पकड़कर लार्ज कैप इंडेक्स को सहारा देने की कोशिश की।
बीएसई स्मॉल कैप इंडेक्स की अगर बात करें तो पिछले कारोबारी सप्ताह के दौरान ये इंडेक्स ओवरऑल ज्यादा हलचल वाला रहा। स्मॉल कैप शेयरों में टाटा मेटलिक्स, न्यू लैंड लैबोरेट्रीज, हैपिएस्ट माइंड्स टेक्नोलॉजी, टीनप्लेट कंपनी, वैभव ग्लोबल, स्टर्लिंग एंड विल्सन सोलर, सीक्वेंट साइंटिफिक, सनफ्लैग आयरन और इंद्रप्रस्थ मेडिकल कॉरपोरेशन जैसी कंपनियों के शेयरों में 10 से 20 फीसदी तक की गिरावट दर्ज की गई। वहीं जयप्रकाश पावर वेंचर्स, बजाज हिंदुस्तान शुगर, वेंकीज और नाथ बायो जेनेस में 25 से 30 फीसदी तक की तेजी देखी गई।
अगर सेक्टोरियल इंडेक्स पर ध्यान दिया जाए तो पिछले कारोबारी सप्ताह के दौरान निफ्टी मेटल इंडेक्स ने सबसे ज्यादा कमजोरी का प्रदर्शन किया। इसमें पूरे सप्ताह के दौरान 4.5 फीसदी की गिरावट देखने को मिली। इसी तरह आईटी इंडेक्स ने 2.6 फीसदी और रियल्टी इंडेक्स ने 2.3 फीसदी की गिरावट दर्ज की। पिछले कारोबारी सप्ताह के दौरान बढ़त लेने वाले सेक्टर में निफ्टी पीएसयू बैंक इंडेक्स ने 3.6 फीसदी और निफ्टी मीडिया ने 2.3 फीसदी की छलांग लगाई।
शुक्रवार को समाप्त हुए कारोबारी सप्ताह के दौरान विदेशी संस्थागत निवेशकों (एफआईआई) ने भारतीय शेयर बाजार में कुल 3620.75 करोड़ रुपये मूल्य के शेयर बेचे, वहीं घरेलू संस्थागत निवेशकों (डीआईआई) ने पूरे सप्ताह के दौरान कुल 1244.03 करोड़ रुपये की बिकवाली की। मई महीने में अभी तक विदेशी संस्थागत निवेशक भारतीय शेयर बाजार में 8713.25 करोड़ रुपये के शेयर बेच चुके हैं। वहीं घरेलू संस्थागत निवेशकों की कुल खरीद और बिक्री मिलाकर मई के महीने में अभी तक की सकल खरीद 891.20 करोड़ रुपये की रही है।

 

Check Also

SBI ग्राहकों के लिए बड़ी खबर, आज 4 घंटे काम नहीं करेगी इंटरनेट बैंकिग

    स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (State Bank of India) में खाता रखने वालों लिए …