Weaken Immunity : डाइट में भूलकर न शामिल करें ये छह चीजें, कमजोर हो सकती हैं इम्युनिटी

कोरोनावायरस (Coronavirus) का कहर जारी है. ऐसे में जरा सी लापरवाही आपके सेहत के लिए नुकसानदायक है. विशेषज्ञों के मुताबिक इस महामारी के समय में इम्युनिटी बढ़ाना बहुत जरूरी होता है. ऐसे में हम इम्युनिटी बढ़ाने के लिए तरह- तरह के तरीके अपनाते हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं कि किन चीजों को खाने से इम्युनिटी कमजोर होती है. अगर नहीं, तो परेशान मत होइए. हम आपको बताते हैं कि किन चीजों  का अत्यधिक सेवन इम्यून सिस्टम को प्रभावित करता है.

अधिक चीनी का सेवन

अपने आहार में अतिरिक्त चीनी का सेवन नहीं करना चाहिए. क्योंकि अत्यधिक चीनी सेहत के लिए हानिकारक होता है. जिन चीजों में चीनी की मात्रा अधिक होती है वो शरीर में शुगर के लेवल को बढ़ाने का काम करते है. इसके अलावा एंटी इंफ्लेमेटरी प्रोटीन की मात्रा को बढ़ाते है जो हमारी इम्युनिटी को कमजोर करता है. हाई ब्लड प्रेशर की वजह आंत के बैक्टीरियां को नुकसान पहुंच सकता है जिसकी वजह से इम्यून सिस्टम कमजोर होता है. इससे आपके शरीर में संक्रमण का खतरा बढ़ सकता है.

नमक

पैकेज्ड चिप्स, बेकरी आइटम और फ्रोजन डिनर नमक से भरे होते हैं. शरीर में बहुत अधिक नमक सूजन को ट्रिगर कर सकता है और ऑटोइम्यून बीमारियों के खतरे को बढ़ा सकता है. नमक इम्यून सिस्टम को प्रभावित करता है.

फ्राइड फूड

फ्राइड फूड में ग्लाइकेशन एंड प्रोडक्ट्स के मोलिक्यूल होते है जो शुगर के साथ प्रोटीन और फैट की भरपूर मात्रा होती है. एजीई की अधिक मात्रा होने के कारण इंफ्लेमेशन और सैलुलर सेल्स को डैमेज करता है. इससे आपकी इम्यून सिस्टम प्रभावित करता है. फ्रेंच फ्राइज़, आलू के चिप्स, फ्राइड चिकन, पैन-फ्राइड स्टेक, फ्राइड बेकन और फिश जैसी चीजें कम खाएं ताकि एजीई का सेवन कम किया सके.

कैफीन

कॉफी और चाय की अधिक मात्रा एंटी ऑक्सीडेंट की भरपूर मात्रा होती है, लेकिन बहुत अधिक कैफीन का सेवन आपकी नींद में बाधा डाल सकता है. जिसकी वजह से सूजन बढ़ जाता है और इम्युनिटी पर प्रभावित पड़ता है. इम्यून सिस्टम को बढ़ाने के लिए कम मात्रा में कॉफी पिएं. इसमें पौष्टिक आहार की भरपूर मात्रा  और शुगर की  मात्रा अधिक होती है. आप सोने से 6 घंटे पहले चाय और कॉफी पी सकते हैं, इससे आपको अच्छी नींद आएगा.

शराब

कुछ स्टडी में कहा गया है कि शराब पीने से इम्युनिटी को महत्वपूर्ण रूप से प्रभावित कर सकता है, जिससे निमोनिया और अन्य श्वसन संबंधी समस्याओं जैसी बीमारी की संभावना बढ़ जाती है.

Check Also

बारिश के दिनों में आपके पैरों को किसी भी तरह के इंफेक्शन से बचाएंगे ये टिप्स

मॉनसून का महीना एक तरफ गर्मी से राहत देता है, तो वहीं तमाम तरह की …