Vivah Muhurat: अगर आप अपने बेटे या बेटी की शादी करना चाहते हैं तो जान लें कि देवदिवाली के बाद पूरे साल में केवल 44 शुभ मुहूर्त

विवाह मुहूर्त: देवउठि एकादशी के बाद शादियों का सीजन शुरू हो जाएगा। हालांकि इस साल विवाह के लिए केवल 44 मुहूर्त हैं। नवंबर महीने की बात करें तो इस महीने में शादी के लिए केवल 3 दिन ही शुभ हैं। इसके बाद गुरु और शुक्र के अस्त होने से मई माह में विवाह का एक भी मुहूर्त नहीं रहेगा। पिछले वर्ष लग्नसार में 63 शुभ मुहूर्त थे लेकिन इस वर्ष केवल 44 शुभ मुहूर्त हैं।

नए साल में विवाह के लिए शुभ मुहूर्त की बात करें तो नवंबर में 27, 28 और 29 तारीख को विवाह के लिए शुभ मुहूर्त हैं, इसके बाद दिसंबर में 6, 7, 8, 14 और 15 तारीख को विवाह के लिए शुभ मुहूर्त हैं। यानी कामुर्ता शुरू होने से पहले शादी के सिर्फ आठ शुभ मुहूर्त हैं। इसके बाद 16 दिसंबर से 14 जनवरी तक यौवन शुरू हो जाएगा।

जनवरी माह में युवावस्था पूर्ण होने पर 21, 22, 27, 28, 30 एवं 31 तारीख को विवाह हो सकता है। इस साल फरवरी महीने में सबसे ज्यादा शादियां होंगी। 2, 4, 6, 12, 17, 18, 19, 24, 26, 27, 28 और 29 तारीखें विवाह के लिए शुभ दिन हैं, तो वहीं मार्च महीने में 2, 3, 4, 6, 11 और 13 तारीखें शुभ हैं। . इसके बाद 14 मार्च से 13 अप्रैल तक मिनाराक रहेगा, जिसके कारण विवाह नहीं हो सकेंगे। इसके अलावा 17 से 24 मार्च तक होलाष्टक के कारण विवाह पर रोक रहेगी। 

अप्रैल माह में विवाह के लिए केवल चार मुहूर्त हैं जिनमें 18, 21, 26 और 28 तारीख विवाह के लिए शुभ हैं। इसके बाद शुक्र ग्रह अस्त हो जाएगा जिसके कारण 1 मई से 28 जून तक लग्न का एक भी मुहूर्त नहीं है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार शुक्र और बृहस्पति के अस्त होने पर विवाह नहीं हो पाता है। दो माह में शुक्र अस्त होने के कारण कोई लग्न मुहूर्त नहीं है, जबकि जून माह में 29 और 30 तारीख को विवाह हो सकते हैं।

 

इस साल 17 जुलाई को देव शयनी एकादशी मनाए जाने से पहले शादी की शुभ तारीखें 9, 11, 12, 13, 14 और 15 जुलाई हैं। उसके बाद 17 जुलाई को भगवान पोढ़ी का जन्म होगा और उसके बाद वसंत पंचमी से विवाह शुरू होंगे। इस प्रकार पिछले वर्ष विवाह के लिए 63 शुभ मुहूर्त थे जबकि इस वर्ष विवाह के लिए केवल 44 शुभ मुहूर्त हैं जिनमें विवाह के लिए सबसे अधिक 12 मुहूर्त फरवरी माह में होंगे। जबकि ग्रीष्म ऋतु में लग्नसार में केवल 14 ही शुभ मुहूर्त आते हैं।