दिल्ली में अगले शैक्षणिक सत्र से वर्चुअल स्कूल की होगी शुरुआत, शिक्षकों के लिए मांगे गए आवेदन

नई दिल्ली: देश और दुनिया में पिछले दो साल से कोविड-19 का संक्रमण बना हुआ है. इस दौरान देश में शैक्षणिक संस्थान अभी तक पूरी तरह खुल नहीं सके हैं. छात्रों की पढ़ाई ऑनलाइन हो रही है. वहीं दिल्ली सरकार के द्वारा दिल्ली की शिक्षा को बेहतर बनाए जाने की दिशा में अब शिक्षा के क्षेत्र में शैक्षणिक सत्र 2022-23 से डिजिटल क्रांति की शुरुआत होने जा रही है. इसके तहत दिल्ली का पहला डिजिटल स्कूल यानी दिल्ली मॉडल वर्चुअल स्कूल (Delhi Model Virtual School) मिलने जा रहा है. यह देश का पहला वर्चुअल स्कूल होगा. इस स्कूल में नौवीं और ग्यारहवीं के छात्र पढ़ सकेंगे. इस संबंध में दिल्ली शिक्षा निदेशालय (delhi school directorate) के द्वारा सर्कुलर जारी कर दिया गया है.

वित्तीय वर्ष 2021-22 के बजट में दिल्ली के उपमुख्यमंत्री व शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया (Delhi Education Minister Manish Sisodia) ने देश के पहले वर्चुअल स्कूल की घोषणा की थी. इसको लेकर शिक्षा निदेशालय ने तैयारी लगभग पूरी कर ली है. वहीं अब शैक्षणिक सत्र 2022-23 में दिल्ली मॉडल वर्चुअल स्कूल का सपना पूरा हो रहा है. शिक्षा निदेशालय के द्वारा दिल्ली मॉडल वर्चुअल स्कूल (Delhi Model Virtual School) में विषयवार शिक्षकों के पद के लिए आवेदन मांगे गए हैं. दिल्ली मॉडल वर्चुअल स्कूल में शिक्षक के पद के लिए 20 जनवरी तक आवेदन कर सकते हैं.

शिक्षा निदेशालय द्वारा जारी किए गए सर्कुलर के मुताबिक शैक्षणिक सत्र 2022-23 में दिल्ली मॉडल वर्चुअल स्कूल में छात्र 9वीं और 11वीं क्लास में एडमिशन ले सकेंगे. यहां शिक्षक लाइव क्लास लेंगे. वहीं दिल्ली मॉडल वर्चुअल स्कूल के लिए दिल्ली शिक्षा निदेशालय के अंतर्गत आने वाले लाजपत नगर में स्थित शहीद हेमू कलानी सर्वोदय बाल विद्यालय में एक स्टूडियो स्थापित किया जाएगा. जहां से हिंदी और अंग्रेजी माध्यम में लाइव क्लास होगी.

बता दें कि जारी किए गए सर्कुलर के मुताबिक दिल्ली मॉडल वर्चुअल स्कूल में नौवीं क्लास के छात्रों के लिए अंग्रेजी, हिंदी सोशल साइंस, नेचुरल साइंस, मैथ्स और कंप्यूटर विषय पढ़ाया जाएगा. वहीं 11वीं क्लास के छात्रों को इंग्लिश, हिंदी, मैथ्स, केमिस्ट्री, बायोलॉजी, फिजिक्स, इकॉनॉमिक्स, हिस्ट्री, पॉलिटिकल साइंस, जियोग्राफी, बिजनेस स्टडीज, अकाउंटेंसी, कंप्यूटर साइंस और फिजिकल एजुकेशन पढ़ाया जाएगा.

Check Also

उत्तराखंड धर्म संसद पर पहली बार बोला मुस्लिम राष्ट्रीय मंच, ऐसी टिप्पणी उचित नहीं

नई दिल्ली : उत्तराखंड के हरिद्वार में धर्म संसद के नाम पर साधु-संतों द्वारा भड़काऊ …