IND vs SA: साउथ अफ्रीका के हक में एक और DRS! फैसले पर विराट कोहली ने जताई नाराजगी

डीन एल्गर (Dean Elgar) वाला DRS विवाद अभी ठंडा भी नहीं हुआ था कि चौथे दिन के खेल के शुरुआती ओवरों में ही एक और DRS के फैसले पर बवाल मच गया. विराट कोहली (Virat Kohli) बीच मैदान फिर से आपा खोते दिखे. फैसले पर अंपायर से से बहस करते दिखे. इस बार सामने बल्लेबाज थे वैन डर डुसे (Van der Dussen) और गेंदबाज थे शमी. डीन एल्गर वाले मामले में खुद साउथ अफ्रीकी कप्तान ने DRS की अपील की थी. इस बार भारतीय कप्तान ने DRS लिया. फैसला डीन एल्गर वाले केस की ही तरह इस बार भी साउथ अफ्रीका के फेवर में गया.

 

DRS से जुड़ी दूसरी घटना चौथे दिन के खेल में साउथ अफ्रीका की इनिंग के 7वें ओवर में घटी. शमी के ओवर की पहली ही गेंद पर वैन डर डुसे बीट हुए. टीम इंडिया ने जोरदार अपील की. जो आवाज आई उससे ऐसा लगा कि गेंद बल्ले का किनारा लेती हुई विकेटकीपर ऋषभ पंत के दस्तानों में गई है. पंत को यकीन था कि ये कैच है. मैदानी अंपायर के नकारे जाने के बाद भारत ने DRS लिया.

फैसले पर हैरान रह गए भारतीय खिलाड़ी

थर्ड अंपायर को पहली नजर में गेंद और बल्ले का कोई संपर्क नहीं दिखा. फिर उन्होंने स्निकोमीटर में देखा और बल्लेबाज को नॉट आउट दिया.फैसले से भारतीय खिलाड़ी फिर से हैरान हो गए. क्योंकि उन्हें लग रहा था कि गेंद ने बल्ले का हल्का किनारा लिया है. लेकिन, थर्ड अंपायर को इसका कोई ठोस प्रमाण नहीं मिला, जिस पर कि वो मैदानी अंपायर के फैसले को बदल सकें.

इस फैसले  ने भारतीय खेमें को फिर गुस्से से भर दिया. मैच में वही सीन क्रिएट होने लगा जो तीसरे दिन डीन एल्गर को लेकर हुआ था. भारतीय कप्तान विराट कोहली आगे बढ़कर फैसले पर अंपायर से बात करते दिखे. लेकिन, अब इन सबका कोई फायदा नहीं था.

फैसला सही या गलत?

हालांकि, बल्लेबाज के बीट होने के बाद जो आवाज आई वो क्लोज अप से पता चलता है कि गेंद और बैट के टक्कर की नहीं बल्कि बल्ले के जमीन से टकराने की है. कैमरे को क्लोज करने पर साफ पता चलता है कि बल्ले ने जमीन को हिट किया, आवाज उसकी है. लिहाजा, DRS से जुड़ा ये फैसला सही जान पड़ता है. और ये डीन एल्गर वाले DRS विवाद से अलग भी है.

Check Also

बड़ी खबर! क्रिकेट में फिर हुई बॉल टैंपरिंग, अंपायर ने टीम को दी सजा

मुंबई, 26 जनवरी: ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका के बीच टेस्ट सीरीज में 4 साल पहले बॉल …