वास्तु शास्त्र: आज ही बेडरूम से हटा दें ये चीजें, बनती हैं दुर्भाग्य और कलह का कारण

वास्तु शास्त्र: वास्तु के अनुसार घर में हर चीज सही दिशा और सही जगह पर रखनी चाहिए। घर की हर दिशा की अपनी-अपनी ऊर्जा होती है। वास्तु शास्त्र में सकारात्मक ऊर्जा को बढ़ाने के लिए कई नियम बताए गए हैं। इन नियमों का पालन करने से घर में समृद्धि आती है। साथ ही सुख-समृद्धि में भी वृद्धि होती है। कई बार हम घर की साज-सज्जा के लिए घर में तरह-तरह की चीजें रखते हैं, जिसका हमारे जीवन पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। खासतौर पर शयनकक्ष में रखी जाने वाली कुछ चीजें ऐसी होती हैं, जो दुर्भाग्य और धन हानि का कारण बनती हैं।

इन नियमों को ध्यान में रखें

    • अपने शयनकक्ष में कभी भी बिस्तर के सामने दर्पण या ड्रेसिंग टेबल न रखें। सुबह उठते ही शीशा देखना अशुभ माना जाता है। इसका असर रिश्तों पर पड़ता है. असफलता भी प्राप्त होती है. जीवन में दुर्भाग्य दस्तक देता है।
    • शयनकक्ष में कभी भी किसी मृत व्यक्ति की तस्वीर न लगाएं। शयनकक्ष में पूर्वजों की तस्वीरें लगाने से नींद में खलल पड़ता है।
    • शयनकक्ष में कभी भी नुकीली या नुकीली वस्तुएं नहीं रखनी चाहिए। ना ही कांटेदार इनडोर पौधे लगाने चाहिए।
    • शयनकक्ष में कभी भी झाड़ू न रखें। झाड़ू रखने से सेहत और रिश्तों पर बुरा असर पड़ता है। इसके अलावा सोते समय पर्स या कोई भी गैजेट पास में न रखें।
  • सिरहाने के पास दवाइयां, खाने का सामान या कोई भी अनावश्यक सामान नहीं रखना चाहिए। इससे नींद में खलल पड़ता है.
  • शयनकक्ष में कभी भी जूते न रखें। तकिए के पास स्लीपर रखकर न सोएं। ऐसा करने से नकारात्मकता आती है।