लौंग के उपयोग: शुगर से हैं परेशान? लौंग बदल देगी ऐसे मरीजों की जिंदगी, करें इस्तेमाल

526148-1349099-sugar-21

मधुमेह रोगी के लिए लौंग: चीनी एक ऐसी बीमारी है जो आमतौर पर अस्वास्थ्यकर जीवनशैली और अस्वास्थ्यकर भोजन के कारण होती है। खराब लाइफस्टाइल और फास्ट फूड इसका प्रमुख कारण है। लेकिन कई लोगों में मधुमेह अनुवांशिक भी होता है। दुनियाभर में डायबिटीज के मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। मधुमेह में इंसुलिन एक प्रमुख भूमिका निभाता है। इंसुलिन शरीर में ब्लड शुगर लेवल को बनाए रखता है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों के मुताबिक, रसोई के मसालों में एक खास तत्व मधुमेह के मरीज को राहत दे सकता है। गरम मसाला में शामिल लौंग में कई औषधीय गुण होते हैं, जो मधुमेह के रोगियों के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं। 

मधुमेह में लौंग के फायदे

स्वास्थ्य विशेषज्ञों का मानना ​​है कि गरम मसाला के रूप में इस्तेमाल की जाने वाली लौंग मधुमेह के रोगियों के लिए फायदेमंद हो सकती है। लौंग में एंटी-डायबिटिक और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जो शुगर पर असर दिखाते हैं। लौंग का तेल इंसुलिन और ग्लूकोज के स्तर को बनाए रखने का काम करता है। इसके एंटीऑक्सीडेंट गुण अग्न्याशय को स्वस्थ बनाने में मदद करते हैं। अग्न्याशय शरीर का वह हिस्सा है जो इंसुलिन के उत्पादन के लिए जिम्मेदार होता है।

लौंग का उपयोग कैसे करें?

लौंग को औषधीय रूप से इस्तेमाल करने के लिए सबसे पहले एक चम्मच लौंग को पीस लें, फिर इसे एक कप पानी में मिलाकर करीब 10 मिनट तक उबलने दें। इसके बाद इसमें आधा चम्मच चाय का पाउडर मिलाकर कुछ देर के लिए रख दें और फिर ठंडे पानी को छानकर रोजाना चाय की तरह पिएं। इससे धीरे-धीरे ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल में आ जाएगा। इसके साथ ही लौंग का उपयोग शरीर में सूजन को कम करने के लिए दवा के रूप में किया जाता है। हम आपको बता दें कि कई बार लौंग का इस्तेमाल जोड़ों के दर्द के इलाज में भी किया जाता है।

Check Also

अलर्ट: सर्दियों में रात में स्वेटर पहनकर सोने से हो सकती है परेशानी, रहें सावधान

ठंड के मौसम में शरीर पर एक, दो नहीं, बल्कि 4-4 परत के कपड़े पहने …