महागठबंधन में जाने से पूर्व राजद के साथ जदयू के नेताओं की हुई डील : उपेंद्र कुशवाहा

पटना, 24 जनवरी (हि.स.)। जनता दल यूनाइटेड (जदयू) में पॉवर सेंटर में खींचतान बढ़ गई है। एक तरफ राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह तो दूसरी तरफ संसदीय बोर्ड के राष्ट्रीय अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा हैं। उपेंद्र कुशवाहा ने मंगलवार को कहा कि महागठबंधन में जाने से पहले जदयू के कुछ नेताओं ने राजद के साथ डील की थी।नीतीश कुमार को लगातार कमजोर किया जा रहा है। मुझे नीतीश बुलाएं। मैं सब कुछ साफ कर दूंगा। मुख्यमंत्री अभी भी संभल जाए।

कर्पूरी ठाकुर की जयंती पर उपेंद्र कुशवाहा को जदयू के तरफ से आयोजित कार्यक्रम में नहीं बुलाया गया। इस पर कर्पूरी ठाकुर का नाम लेकर उपेंद्र कुशवाहा जमकर बरसे। उन्होंने कहा कि कर्पूरी ठाकुर की चाहत थी उनका अभियान चलते रहे। उनके बाद ये जिम्मेदारी लालू यादव पर आई। फिर नीतीश कुमार पर आई।

उपेन्द्र कुशवाहा ने कहा कि महागठबंधन में जाने के पहले डील हुई है। क्या डील हुई है ? किसने ये डील की है? नीतीश कुमार के ऊपर हमले हो रहे हैं और उन्हें कमजोर करने की कोशिश हो रही है। जब मैंने आवाज उठाई तो मेरे ऊपर प्रहार किया जा रहा है। मेरे पीछे लोग पड़े है। उपेंद्र कुशवाहा का दर्द भी छलका। उन्होंने कहा कि मुझे आज कर्पूरी ठाकुर में और कल महाराणा प्रताप के कार्यक्रम में मुझे नहीं बुलाया गया।

इस बाबत जब नीतीश से सवाल किये गए तो उन्होंने कहा कि उपेंद्र कुशवाहा के बारे में हमसे कुछ मत पूछिए। जो उनके मन में आए वह बोलते रहते हैं। उनको बोलने के लिए छोड़ दीजिए। उनकी बात पर पार्टी का कोई भी आदमी कुछ नहीं बोलेगा।

Check Also

गंगा समग्र प्रकल्प के राष्ट्रीय मंत्री द्वारा गंगा समग्र सहायक नदियां के जिला समिति गठित

किशनगंज , 27 जनवरी (हि.स.)। बसंत पंचमी के शुभ उपलक्ष पर जिले की गंगा समग्र …