UP Board Result 2021: जल्द आएगा यूपी बोर्ड की 10वीं, 12वीं का रिजल्ट, बिना मेरिट के होगा तैयार

UP Board 10th, 12th Result 2021: रविवार को अधिकारियों के साथ बैठक में, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि COVID-19 के कारण यूपी बोर्ड कक्षा 10 और 12 की परीक्षा रद्द होने के बाद, कोई मेरिट सूची (Merit List) घोषित नहीं की जाएगी. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सरकारी आवास से वर्चुअल माध्यम से कोविड प्रबंधन की बैठक की. सीएम योगी ने कहा कि माध्यमिक शिक्षा परिषद (यूपी बोर्ड) की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट परीक्षाओं का परीक्षाफल तैयार करने के संबंध में गाइडलाइंस जल्द तय कर परीक्षा का रिजल्ट तैयार किया जाए.

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कोरोना संक्रमण के चलते इस बार दसवीं और बारहवीं की परीक्षाएं नहीं हो सकी हैं, इसलिए परीक्षाफल की मेरिट सूची न तैयार की जाए. इसके अलावा प्राविधिक शिक्षा विभाग ऑनलाइन परीक्षा कराए. साथ ही उच्च शिक्षा विभाग को भी विद्यार्थियों को प्रोन्नत करने का निर्णय जल्द लेने का निर्देश दिया.

10वीं और 12वीं के छात्रों के लिए यह निर्णय लिया गया कि इन कक्षाओं के छात्रों को स्थिति में सुधार होने पर परीक्षा में बैठने का अवसर दिया जाना चाहिए ताकि उन्हें अपने अंक बढ़ाने का उचित मौका मिल सके. वर्तमान में अंक बड़े पैमाने पर पिछली कक्षा में प्राप्त अंकों और पहले आयोजित प्री-बोर्ड परीक्षाओं के आधार पर दिए जाएंगे.

इस मुद्दे पर बोलते हुए, माध्यमिक शिक्षा विभाग के एक अधिकारी ने कहा, “हम छात्रों को एक विकल्प दे रहे हैं कि यदि वे रद्द की गई परीक्षा के अंकों से संतुष्ट नहीं हैं, तो बोर्ड उन्हें अगले साल जब हाईस्कूल और इंटर की परीक्षाएं होंगी तब परीक्षा में बैठने की अनुमति देगा.”

मूल्यांकन फॉर्मूले के लिए मिले थे 4,000 सुझाव

यूपी बोर्ड को 2021 के हाई स्कूल और इंटरमीडिएट परीक्षाओं के लिए पंजीकृत 56 लाख से अधिक छात्रों के रिजल्ट तैयार करने को लेकर लगभग 4,000 सुझाव मिले थे. अधिकारियों ने कहा था कि बोर्ड ने छात्रों, अभिभावकों, शिक्षकों और प्राचार्यों सहित सभी हितधारकों से 10 जून को दोपहर 2 बजे तक सुझाव भेजने को कहा था, ताकि कक्षा 10 और कक्षा 12 दोनों के छात्रों की रद्द परीक्षाओं के रिजल्ट घोषित करने का फॉर्मूला निर्धारित किया जा सके.

56 लाख छात्र-छात्राएं प्रमोट

महामारी को देखते हुए इस साल 10वीं, 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं रद्द कर दी गई. सीबीएसई की परीक्षाओं को रद्द करने के फैसले के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने यूपी बोर्ड की परीक्षाएं रद्द करने का फैसला लिया था. इस साल उत्तर प्रदेश कक्षा 10 और 12 की बोर्ड परीक्षा के लिए 56 लाख से अधिक उम्मीदवारों ने पंजीकरण कराया है. आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, 29,94,312 कक्षा 10 के छात्रों और 26,10,316 कक्षा 12 के छात्रों को इस साल बिना परीक्षा के अगली कक्षाओं में प्रमोट किया गया है.

Check Also

RRB NTPC Phase 1 Result 2021: एनटीपीसी फेज 1 का रिजल्ट इस दिन होगा घोषित, ऐसे देखें अपना रिजल्ट

RRB NTPC Phase 1 Result 2021: रेलवे रिक्रूटमेंट बोर्ड (Railway Recruitment Board) की नॉन टेक्निकल …