UP Assembly Election: 107 उम्मीदवारों में 60 फीसदी टिकट BJP ने OBC-SC को दिए, ये है पूरा जातीय गणित

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 (Uttar Pradesh Assembly Election 2022) के लिए अब सभी दल अपने उम्मीदवारों के नाम की घोषणा करने लगे हैं. शनिवार को बीजेपी ने 107 सीटों पर उम्मीदवारों के नाम का ऐलान किया (BJP Candidate List). बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव अरुण सिंह और केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सूची जारी की. वहीं, इस पूरी लिस्ट में सबसे दिलचस्प नाम मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) का देखने को मिला. योगी आदित्यनाथ गोरखपुर से विधानसभा चुनाव लड़ेंगे, वहीं डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य सिराथू विधानसभा सीट से चुनाव लड़ेंगे.

बीजेपी पहले और दूसरे चरण के लिए होने वाले चुनावों के लिए उम्मीदवारों के नाम का ऐलान किया. पहले चरण में 58 सीटों पर चुनाव होने हैं, इनमें से 57 सीटों पर पार्टी ने उम्मीदवारों का ऐलान किया. वहीं, दूसरे चरण की 55 सीटों में से 48 पर बीजेपी ने उम्मीदवार उतारे हैं. पार्टी ने 107 में से 21 नए चेहरों पर दांव लगाया है और 63 मौजूदा विधायकों पर फिर से विश्वास जताया है.

43 फीसदी टिकट सामान्य वर्ग को

टिकट बंटवारे में BJP ने हर वर्ग को साधने की कोशिश की है. बीजेपी ने 43 फीसदी सामान्य वर्ग को टिकट दिया है. वहीं, सामान्य वर्ग की एक सीट पर अनुसूचित जाति के उम्मीदवार को टिकट दिया है. 68 फीसदी उम्मीदवारों में दलित, अनुसूचित जाति और महिला उम्मीदवारों को टिकट दिया गया है. जाति के आधार पर टिकटों की संख्या की बात करें तो 44 सीटों पर ओबीसी को टिकट दिया गया है. 19 सीटों पर अनुसूचित जाति और 10 सीटों पर महिला उम्मीदवार को मैदान में उतारा गया है.

किस वर्ग के कितने उम्मीदवार

सामान्य वर्ग में भी बीजेपी ने 17 सीटों पर ठाकुर, 10 सीटों पर ब्राह्मण, 8 सीटों पर वैश्य, तीन पर पंजाबी, दो पर त्यागी और दो कायस्थ वर्ग के उम्मीदवारों को टिकट दिया है. 44 ओबीसी उम्मीदवारों में भी 16 जाट, 7 गुर्जर, 6 लोधी, 5 सैनी, 2 शाक्य, 1 खडागबंशी, 1 मौर्य, 1 कुर्मी, 1 कुशवाहा, 1 प्रजापति, 1 यादव और 1 निषाद वर्ग के उम्मीदवार शामिल हैं. अनुसूचित जाति के प्रतिनिधित्व की बात करें तो 13 उम्मीदवार जाटव वर्ग से हैं. 2 बाल्मीकि, 1 बंजारा, 1 धोबी, 1 पासी और एक सोनकर वर्ग से हैं.

अब तक तीन ओबीसी मंत्री और एक दर्जन विधायक BJP छोड़ चुके हैं. ऐसे में बीजेपी ओबीसी वर्ग में अपना जनाधार बनाए रखने के लिए सभी वर्गों को अपने सीट बंटवारे में जगह दे रही है.

सात चरणों में होगा मतदान

उत्तर प्रदेश में सात चरणों में मतदान होगा. पश्चिम उत्तर प्रदेश में शुरुआती चरण में मतदान होगा और पूर्वी उत्तर प्रदेश की ओर यह बढ़ेगा. 10 फरवरी को 58 सीटों पर पहले चरण का मतदान होगा. दूसरे चरण का मतदान 14 फरवरी को 55 सीटों पर. तीसरे चरण का मतदान 20 फरवरी को 59 सीटों पर, 23 फरवरी को चौथे चरण का मतदान 60 सीटों पर, पांचवें चरण का मतदान 27 फरवरी को 60 सीटों पर, छठे चरण का मतदान 57 सीटों पर तीन मार्च को और सातवें चरण का मतदान 54 सीटों पर 7 मार्च को होगा.

Check Also

फतेहपुर: पुलिस ने अवैध असलहा फैक्ट्री का किया खुलासा, 03 अभियुक्त गिरफ्तार

फतेहपुर, 17 जनवरी (हि.स.)। जिले में सोमवार को पुलिस ने आगामी विधानसभा चुनाव सकुशल सम्पन्न …