नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में हिंदुस्तान बन गया है हथियारों का बड़ा निर्यातक : गिरिराज सिंह

बेगूसराय, 15 जनवरी (हि.स.)। भारत दुनिया भर में हथियार का बड़ा निर्यातक देश बनता जा रहा है। दुनिया के देशों में भारत से हथियार खरीदने की बढ़ी ललक को लेकर केंद्रीय ग्रामीण विकास और पंचायती राज मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा है कि यह स्वतंत्र भारत की सबसे सफल उपलब्धियों में से एक है। हथियारों का आयातक देश हिंदुस्तान वैज्ञानिकों के अथक प्रयासों और नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में अब हथियारों का बड़ा निर्यातक देश बन गया है। अब भारत में खतरनाक और आधुनिक हथियार ना केवल बनाए जा रहे हैं, बल्कि विभिन्न देशों को सप्लाई भी किए जा रहे हैं। हथियारों के निर्यात में भारत तेजी से आगे बढ़ता जा रहा है। 2015-16 में भारत ने मात्र दो हजार करोड़ का हथियार निर्यात किया था, लेकिन हाल के वर्षों में भारतीय हथियार के निर्यात में अभूतपूर्व 228 प्रतिशत की तेजी आई है। वर्ष 2020-21 में हथियार निर्यात करने का आंकड़ा बढ़कर 63 सौ करोड़ हो गया।

 

दुनिया भर के 20 से अधिक देश भारत में निर्मित ब्रह्मोस मिसाइल, अर्जुन एमके-1ए टैंक, तेजस एयरक्राफ्ट और पिनाका रॉकेट खरीदने को इच्छुक हैं। ऑस्ट्रेलिया और जर्मनी जैसे 42 से अधिक देशों को भारत हथियार और रक्षा उपकरण आपूर्ति कर रहा है। जर्मनी को युद्ध में इस्तेमाल किए जाने वाला जंगी हेलमेट और बम सेपरेशन ब्लैंकेट, ऑस्ट्रेलिया को एमके-एन सीरीज का आधुनिक कारतूस, अजरबेजान को हार्ड आर्मर प्लेट, इजराइल को मोर्टार शेल तथा दक्षिण अफ्रीका को खतरनाक डेटोनेटर निर्यात किया जा रहा है। इसके अलावा मॉरीशस, श्रीलंका और म्यांमार जैसे देश भी भारत से आधुनिक हथियार तथा रक्षा उपकरण खरीद रहे हैं। गिरिराज सिंह ने कहा है कि जो कहते थे क्या हुआ मोदी के आने से वह जान लें कि भारत पहले विश्व में रक्षा उपकरण के आयातकों में जाना जाता था। हथियारों की खरीद में भारत सऊदी अरब के बाद दुनिया का सबसे बड़ा देश था, 15 वर्षों में भारत में छह लाख करोड़ का हथियार खरीदा लेकिन आज वही भारत सम्पूर्ण विश्व को रक्षा उपकरण एवं हथियारों का निर्यात कर रहा है।

Check Also

27dl_m_407_27092022_1

हत्या या आत्महत्या में उलझी पुलिस ने पति को भेजा जेल

बेगूसराय, 27 सितम्बर (हि.स.)। बेगूसराय में जुआ खेलने और जमीन बेचने से रोके जाने पर …