U19 World Cup: स्कॉटलैंड को हराने के लिए श्रीलंकाई कप्तान का ‘पंजा’ ही काफी, 27 रन पर लुढ़का दी आधी टीम!

अंडर 19 वर्ल्ड कप (U19 World Cup) में श्रीलंका (SL U19) की शुरुआत धमाकेदार रही है. और, हो भी क्यों ना सामने जब स्कॉटलैंड जैसा कमजोर विरोधी हो. स्कॉटलैंड (SCO U19) को तो टूर्नामेंट का टिकट भी नहीं मिला था. वो तो न्यूजीलैंड के नाम वापस ले लेने के बाद आखिरी वक्त में इसे अंडर 19 वर्ल्ड कप खेलने का लाइसेंस मिला. टूर्नामेंट के ग्रुप डी में शामिल स्कॉटलैंड का पहला मुकाबला श्रीलंका से हुआ, जिसमें उसे 40 रन से हार का सामना करना पड़ा. बड़ी बात ये रही कि स्कॉटलैंड को हराने के लिए श्रीलंका की पूरी टीम को मशक्कत नहीं करनी पड़ी. बल्कि, उसके लिए श्रीलंकाई कप्तान का पंजा ही काफी रहा.

श्रीलंकाई कप्तान ड्यनिथ वेलाज का पंजा मतलब मैच में उनके झटके 5 विकेट, जो उन्होंने 9 ओवर में 3 की इकॉनमी से 27 रन देते हुए चटकाए. उन्होंने इन विकेटों की स्क्रिप्ट तब लिखी जब स्कॉटलैंड की टीम श्रीलंका के स्कोर को चेज करने उतरी थी. दूसरे शब्दों में कहें तो श्रीलंकाई कप्तान ने अकेले ही स्कॉटलैंड की आधी टीम को सिर्फ 27 रन पर ही समेट दिया था.

श्रीलंका 218 रन बनाकर हुई ऑलआउट

ये सब कैसे हुआ अब वो जरा विस्तार से समझिए. मैच में श्रीलंका ने पहले बैटिंग की. श्रीलंकाई टीम की बल्लेबाजी भी कुछ ज्यादा बेहतर नहीं रही. सिर्फ 45.2 ओवरों में ही पूरी टीम 218 रन बनाकर ऑलआउट हो गई. श्रीलंका की ओर से सबसे ज्यादा रन या यूं कहें कि इकलौता अर्धशतक विकेटकीपर बल्लेबाज सकुना निदर्शना ने 85 रन की पारी खेलते हुए जड़ा.

स्कॉटलैंड के गेंदबाजों ने मैच बनाया, बल्लेबाजों ने डुबोया

स्कॉटलैंड के सामने अब जीत के लिए 219 रन का लक्ष्य था. लेकिन इस लक्ष्य का पीछा करते हुए पूरी टीम 48.4 ओवरों में केवल 178 रन ही बना सकी और मुकाबला हार गई. स्कॉटलैंड के गेंदबाजों ने जो मैच बनाया था, उसे बल्लेबाजों ने हाथ से जाने दिया. और, इस काम में उनकी सबसे बड़ी मुश्किल बने श्रीलंका कप्तान ड्यनिथ वेलाज. जिन्होंने बल्ले से बेशक कोई रंग ना जमाया पर गेंद से कहर ढा दिया.

श्रीलंकाई कप्तान का ‘पंजा’ बना जीत की वजह

श्रीलंकाई कप्तान ने  27 रन देकर 5 विकेट झटके जिसमें स्कॉटलैंड के टॉप ऑर्डर से लेकर लोअर ऑर्डर तक के विकेट शामिल रहे. श्रीलंकाई कप्तान के अलावा बाकी के गेंदबाजों ने भी विकेट आपस में बांटे. लेकिन उनका प्रदर्शन मैच के नतीजे पर असर डालने वाला रहा. इस असरदार प्रदर्शन के लिए श्रीलंकाई कप्तान को प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया. टूर्नामेंट के पहले ही मैच में जीत का हीरो बनने के बाद कप्तान का तो जोश हाई हुआ ही होगा. ये टीम का मनोबल भी ऊंचा करने वाला साबित हो सकता है.

Check Also

वर्ल्ड चैंपियन कप्तान उन्मुक्त चंद के गुस्से का हुआ असर, आखिरकार मिल गया BBL में डेब्यू का मौका

मेलबर्न रेनीगेड्स ने सोमवार को होबार्ट हरीकेंस के खिलाफ मैच के लिए टीम का ऐलान …