U19 World Cup: जंगलों में छिपा, भयानक रातें झेली, जानिए अफगानिस्तान से आयरलैंड तक… इस खिलाड़ी का 8300 km लंबा संघर्ष

अंडर 19 वर्ल्ड कप  (U19 World Cup) में 16 देश खेल रहे हैं. लेकिन यकीन मानिए इन 16 देशों के खिलाड़ियों में किसी की भी साइड स्टोरी आयरलैंड के क्रिकेटर मुजामिल शरजाद (Muzamil Sherzad) जैसी नहीं होगी. हम यहां उनके रन, विकेट या काबिलियत की बात नहीं कर रहे. काबिल हैं तभी तो अंडर वर्ल्ड कप खेलने पहुंचे हैं. हमारा मकसद है यहां मुजामिल शरजाद के सफर को बताना. वो सफर जो उन्होंने अफगानिस्तान की गलियों से आयरलैंड की अंडर 19 (Ireland U19) टीम तक का किया है. अफगानिस्तान के शहर जलालाबाद की गलियों में क्रिकेट खेलने वाले एक टीन एज लड़के को जब आयरलैंड की जूनियर टीम से खेलने का लाइसेंस मिल जाए, तो कहानी का फिल्मी लगना स्वाभाविक है.

5 साल पहले की बात है, जब शरजाद की उम्र 14 साल की थी, उनकी मां ने एक दलाल को पैसे देकर उन्हें आयरलैंड ले जाने को कहा, जहां उनके चाचा एक फास्ट फूड के स्टॉल पर काम करते थे. शरजाद के इस सफर में 8 से 9 महीने लग गए. दूसरे प्रवासियों के साथ उन्होंने पाकिस्तान, इरान, तुर्की, बुल्गारिया, सर्बिया, क्रोएशिया, इटली और फ्रांस की सीमाएं लांघी. वो दौड़े, चले , जंगलों में छिपे और मैदानों में सोए. तब जाकर उनका 8300 किलोमीटर लंबा ये सफर पूरा हुआ और वो अपने चाचा से मिल सके.

आयरलैंड में ऐसे चढ़ा क्रिकेट का भूत

आयरलैंड में शरजाद ने देखा कि यहां क्रिकेट खेलकर नए दोस्त बनाए जा सकते हैं और खुद की नई पहचान बनाई जा सकती है. उन्हें ये सब अचंभा सा लगा. लेकिन, उन्होंने ऐसा करने की ठानी, जिससे उनकी किस्मत अचानक पलटने लगी. वो जल्दी ही इस नए देश के वर्ल्ड कप टीम के कंटेंडर बन गए.

आसान नहीं था अफगानिस्तान से आयरलैंड पहुंचना

शरजाद ने अपने पिता को सिर्फ 5 साल की उम्र में ही खो दिया था. गुयाना से द इंडियन एक्सप्रेस के साथ जूम पर बात करते हुए शरजाद ने बताया कि, ” घर में प्रॉपर्टी को लेकर लड़ाई झगड़े हुए. मेरी मां एक दलाल को जानती थी. और, उसने मेरा पैकअप कर दिया. मेरी जिंदगी तब खतरे में थी. ” उन्होंने बताया कि एक बार जब मैं जब कैंप में था . हम क्रोएशिया के बॉर्डर क्रॉस करने की महीनों से कोशिश कर रहे थे.तब हम ट्रक से 3-4 दिन की यात्रा कर मिलान पहुंचे थे.”

उन्होंने बताया कि फ्रांस के चेरबर्ग में उन्होंने नांव पर खड़े एक ट्रक में पूरी रात बिताई थी. वो रात काली और ठंडी थी. उन्होंने उसे अपने लंबे सफर की सबसे भयानक रात बताया. उन्होंने कहा कि कुछ घंटों बाद मैंने देखा कि ट्रक नाव पर नहीं है और वो चल रही है. ड्राइवर ने जब ट्रक रोका और पीछे का दरवाजा खोला मैं वहां से कूदकर भाग पड़ा था.

शरजाद के मुताबिक किस्मत अच्छी थी कि वो आयरलैंड पहुंचने में कामयाब रहे थे. डबलिन में पहली रात उन्होंने एक पार्क में बिताई क्योंकि उन्हें ये पता नहीं था कि उनके चाचा कहां रहते हैं. एक एशियाई की मदद से वहां डबलिन के रिफ्यूजी सेंटर पहुंचने में कामयाब रहे. इसके बाद उनके चाचा भी उन्हें मिल गए.

फास्ट बॉलिंग हंट से बटोरी सुर्खियां

आयरलैंड में क्रिकेट से शरजाद का जुड़ाव 2 साल पहले हुआ. उन्होंने देखा कि क्रिकेट आयरलैंड तेज गेंदबाज की खोज कर रहा. उन्होंने तुरंत इसके लिए नामांकन कर दिया. क्रिकेट आयरलैंड के टैलेंट पाथवे मैनेजर अल्बर्ट वैन डर मर्वे ने बताया कि वहां 50 प्रतियोगी थे लेकिन शरजाद में उन्हें नेचुरल टैलेंट दिखा.

परिवार से मिलने की ख्वाहिश

उन्होंने बताया, ” पहली बार मैं शरजाद से अक्टूबर 2019 मे मिला, जब वो टैलेंट आइडेन्टिफिकेशन प्रोग्राम में भाग लेने आए थे. वो एकेडमी के कुछ बल्लेबाजों को गेंद करा रहे थे. तब मैंने उन्हें देखा था. हमने उनकी गेंदबाजी के कुछ वीडियो बनाए और एकेडमी मैनेजर को दिखाया, जिसके बाद उन्हें आगे के सेशन के लिए बुलाया गया. हमें तब तक उनके पास्ट के बारे में पता नहीं था.”  वैन डर मर्वे ने बताया कि उन्हें शरजाद की बीती स्टोरी का पता तब चला जब उन्होंने एकेडमी जॉइन की.

सहवाग और बॉलीवुड के फैन

वीरेंद्र सहवाग और बॉलीवुड के बड़े फैन शरजाद मौजूदा अंडर 19 वर्ल्ड कप में अपनी अलग पहचान बनाना चाहते हैं. उन्होंने कहा कि IPL में अफगानिस्तान के कई बड़े सितारों को खेलते देख उनकी इच्छा भी इस लीग में खेलने की है. वो आमिर खान की फिल्म थ्री इडियट्स देखकर हिंदी बोलना भी सीख गए हैं.

क्रिकेट से परे शरजाद की अब एक और ख्वाहिश है जो पूरी होनी बाकी है. ये ख्वाहिश है अपनी मां, दो भाई और बहन से मिलने की, उन्होंने कहा, ” मैंने कभी ये नहीं सोचा था कि मैं वर्ल्ड कप में आयरलैंड के लिए क्रिकेट खेलूंगा . मैं चाहूंगा कि मेरी मां और मेरा परिवार मुझे वर्ल्ड कप में खेलते देखे. मैं उन्हें काफी मिस करता हूं. मैं उन्हें अब आयरलैंड लाना चाहता हैं. मैंने उनके वीजा के लिए अप्लाई भी किया है. देखते हैं भविष्य में क्या होता है.”

Check Also

2007 आईसीसी टी20 विश्व कप के फाइनल में आति आत्मविश्वास के साथ खेला था शॉट : मिस्बाह

मस्कट, 29 जनवरी (आईएएनएस) चौदह साल पहले भारत ने दक्षिण अफ्रीका के जोहान्सबर्ग में एक रोमांचक …