U19 World CUP 2022: टीम इंडिया पांचवीं बार चैंपियन बनने को है तैयार, कोच ने किया खास रणनीति का खुलासा

भारतीय अंडर-19 (U19 Team India) टीम शनिवार से वर्ल्ड कप (U19 World Cup 2022) में अपने अभियान की शुरुआत करने वाली है. टीम को पहले ही मुकाबले में साउथ अफ्रीका  जैसी मजबूत टीम का सामना करना है. मैच से पहले टीम के मुख्य कोच ऋषिकेश कानितकर (Hrishikesh Kanitkar) टूर्नामेंट में अपनी रणनीति के बारे में बात करते हुए कहा कि विश्व कप के दौरान उनकी टीम छोटे लक्ष्य निर्धारित कर, उस पर काम करेगी. अंडर-19 विश्व कप में भारत की समृद्ध विरासत रही है और कानितकर उसे जारी रखने की कोशिश करेंगे.

अंडर-19 विश्व कप वेस्टइंडीज में शुक्रवार से शुरू हो रहा है. भारत इस टूर्नामेंट की सबसे कामयाब टीम है. साल 2000, 2008, 2012 और 2018 में टीम इंडिया खिताब अपने नाम कर चुकी है. वहीं पिछले तीन बार से फाइनल तक पहुंचने में सफल रही है. पिछली बार टीम को फाइनल में बांग्लादेश से हार का सामना करना पड़ा था. हालांकि इस बार वह दोबारा चैंपियन बनने के लिए तैयार है.

नए सिरे से शुरुआत करेगी टीम

कोच कानितकर ने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा, ‘भारत ने इस टूर्नामेंट में लगातार अच्छा प्रदर्शन किया है. जिससे टीम की विरासत शानदार रही है. इससे नये टूर्नामेंट में मदद नहीं मिलती है लेकिन हम चार बार चैम्पियन रहे है. यह एक नयी टीम है, इसलिए आपको नए सिरे से शुरुआत करनी होगी.’ उन्होंने कहा, ‘हम आईपीएल नीलामी और रणजी ट्रॉफी जैसी चीजों को बहुत आगे नहीं देखना चाहते. हमें हालांकि फिलहाल सिर्फ इस बात पर ध्यान देने की जरूरत है कि हम इस टूर्नामेंट में क्या कर सकते हैं. हम, एक कोचिंग इकाई के रूप में यह सुनिश्चित करने की कोशिश कर रहे कि वह इस छोटी अवधि में क्या कर सकते है.’

बायो बबल की आदत डालना जरूरी

जैव सुरक्षित माहौल (बायो-बबल) की मुश्किल परिस्थितियों में खेलने के बारे में पूछे जाने पर भारत के पूर्व क्रिकेटर ने कहा कि शिकायत करने से अच्छा है कि हम इसकी आदत डाले. उन्होंने कहा, ‘हां, यह एक चुनौती है. हमें यह महसूस करने की आवश्यकता है कि अब यही आदर्श स्थिति है. इसकी आदत डालना बेहतर है. यह अब वास्तविकता है, बायो-बबल में रहना, इससे सीखना, इस विश्व कप के बाद भी, जब उन्हें बबल में रहने की जरूरत होगी, तो वे इसके लिए तैयार होंगे.’

अंडर-19 एशिया कप में जीत के साथ भारतीय टीम अंडर-19 विश्व कप में आयी है. मुख्य कोच ने कहा कि इससे टीम को फायदा होगा क्योंकि एशिया कप में टीम को एक साथ खेलने का मौका मिला था. उन्होंने कहा, ‘यह जरूरी है क्योंकि हम इससे पहले एक टीम के रूप में एक साथ नहीं खेले थे. हमारे लिए टीम निर्माण और मैच अभ्यास के मामले में वह महत्वपूर्ण था. इससे बहुत मदद मिली है.’

Check Also

एएफसी महिला एशियाई कप से हटा भारत, टीम के शेष सभी मैच रद्द

मुंबई, 24 जनवरी (हि.स.)। भारत एएफसी महिला एशियाई कप से हट गया है और उनके …