बुर्का पहने दो महिलाओं ने मंदिर व चर्च में की तोड़फोड़, मामला दर्ज

27_09_2022-27_09_2022-telangana_news_23102346_9140417

हैदराबाद: तेलंगाना में बुर्का पहने दो महिलाओं ने एक मंदिर और एक चर्च की मूर्तियों को नुकसान पहुंचाने की कोशिश की. लोगों के मना करने के बावजूद उन्होंने ऐसा करना बंद नहीं किया, जिसके बाद दोनों को पुलिस के हवाले कर दिया गया. यह जानकारी नामपाली विधायक जेएच मेराज ने दी।

मूर्तियों को नुकसान पहुंचाने की कोशिश

विधायक ने कहा, “बुर्का पहने दो महिलाओं ने एक स्पैनर से देवी की मूर्ति को नुकसान पहुंचाने की कोशिश की। जब भक्तों ने उन्हें रोका तो दोनों एक चर्च गए और फिर किया। उन्हें वहां भी रोका गया तो दोनों महिलाएं हनुमान मंदिर पहुंचीं, जहां दोनों को पुलिस के हवाले कर दिया गया. मैंने पुलिस आयुक्त से विस्तृत जांच का अनुरोध किया है।

पुलिस ने दो महिलाओं को किया गिरफ्तार

इस पूरे मामले पर डीसीपी सेंट्रल जोन एमआर चंद्रा कहते हैं, ‘खैरताबाद के एक पंडाल में मां दुर्गा की मूर्ति का एक हिस्सा तोड़ने के आरोप में मुस्लिम समुदाय की दो महिलाओं को गिरफ्तार किया गया है. एक महिला भी स्पैनर लिए नजर आई। उसने एक स्थानीय पर हमला करने की कोशिश की।

मानसिक रूप से बीमार महिलाएं

डीसीपी सेंट्रल जोन का कहना है, ‘चार लोग- मां, पिता और 2 लड़कियां- एक साथ रहते हैं। वे मानसिक रूप से बीमार हैं।

भाई ने माफ़ी मांगी

 

आसिमुद्दीन ने कहा, ‘मैं अभी तक अपनी बहनों से नहीं मिला हूं, लेकिन जो हुआ वह मैंने सुना है। इसलिए मैं यहां आया हूं। मेरी माँ और बहनों को सिज़ोफ्रेनिया है और मेरे भाई को पैरानॉयड सिज़ोफ्रेनिया है। ऐसा उन्होंने पहले कभी नहीं किया। तो मैं माफी मांगता हूं। उसका अस्पताल में इलाज चल रहा है।

आरोपित के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है

डीसीपी सेंट्रल जोन, हैदराबाद ने कहा, ‘आईपीसी की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है। हम सभी के बयान दर्ज करेंगे। चूंकि उसे (आरोपी के भाई असीमुद्दीन को) मानसिक परेशानी है, इसलिए हमने उसे सरकारी अस्पताल में रेफर कर दिया है। इसके बाद उन्हें मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया जाएगा। यह मजिस्ट्रेट पर निर्भर है, वे तय करेंगे।

Check Also

भारत को अपना मानने वाला हर भारतीय हिंदू है: भागवत

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अध्यक्ष मोहन भागवत ने गुरुवार को कहा कि हर कोई हिंदू …