मतदान के दौरान मतदाताओं को पूरी और उचित सूचनाएं देगी ट्विटर, जानें कैसे

माइक्रो ब्लागिंग साइट  ट्विटर (Microblogging Website Twitter) ने पांच राज्यों में होने वाले आगामी विधानसभा चुनावों (Assembly Elections) में वोट डालने से पहले नागरिकों को सही जानकारी देने के लिए गुरुवार को सूचना संबंधी कई कदमों की घोषणा की। ट्विटर ने एक बयान में कहा, ‘मुक्त इंटरनेट द्वारा संचालित ट्विटर के कदम न केवल उच्च मतदान सुनिश्चित करने पर केंद्रित हैं।  बल्कि यह सुनिश्चित करने में भी सहायता करेंगे कि मतदाता पूरे चुनावी दौर में न केवल शामिल हों, बल्कि इस दौरान उनके पास पूरी जानकारी रहे।

 

मतदाताओं की मदद के लिए होगी इमोजी

ट्विटर मतदाताओं की मदद के लिए एक उचित इमोजी की भी शुरुआत करेगी। इसने कहा, जब चुनाव होते हैं तो लोग मतदान के बारे में विश्वसनीय जानकारी खोजने, उम्मीदवारों और उनके घोषणापत्रों के बारे में जानने एवं स्वस्थ चर्चा में शामिल होने के लिए ट्विटर पर आते हैं। ट्विटर लोगों को अपने नागरिक अधिकारों का प्रयोग करते समय सही निर्णय लेने में सक्षम बनाने के लिए प्रतिबद्ध है। उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, मणिपुर और गोवा में विधानसभा चुनाव 10 फरवरी से सात मार्च तक सात चरणों में होंगे। 10 मार्च को मतगणना होगी।

 

कू ने आचार संहिता अपनाई

माइक्रोब्लागिंग प्लेटफार्म कू ने गुरुवार को कहा कि उसने आगामी विधानसभा चुनावों के दौरान इंटरनेट मीडिया के निष्पक्ष और नैतिक उपयोग के लिए स्वैच्छिक आचार संहिता अपनाई है। इंटरनेट एंड मोबाइल एसोसिएशन आफ इंडिया (आइएएमएआइ) द्वारा बनाई गई संहिता को पहली बार 2019 के आम चुनाव से पहले निर्वाचन आयोग के सामने प्रस्तुत किया गया था।

 

उत्तर प्रदेश और पंजाब समेत कुल पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव होना है। निर्वाचन आयोग इसके लिए मतदान की तारीखों का एलान कर चुकी है। उत्तर प्रदेश में सात चरणों में चुनाव होंगे। वहीं मणिपुर में दो चरणों में चुनाव आयोजित कराया जाएगा। जबकि पंजाब, गोवा और उत्तराखंड में एक -एक चरण में चुनाव कराये जा रहे हैं। 10 फरवरी से मतदान की शुरुआत होगी। चुनाव की तारीखों के साथ ही आदर्श आचार संहिता भी लागू हो गई है। इस बार कोरोना संक्रमण के खतरे को देखते हुए कोविड प्रोटोकाल के तहत ही चुनाव कराए जाएंगे।

Check Also

खुजली, लाल आंखें ओमाइक्रोन संक्रमण का संकेत दे सकती हैं; आप सभी को इस नए लक्षण के बारे में जानने की जरूरत

भले ही ‘उपन्यास’ कोरोनावायरस SARS-CoV-2 हमारे बीच दो साल से अधिक पुराना है, लेकिन इसने …