रोगों से लड़ने की क्षमता को बढ़ाता है तुलसी वाला दूध

 


हमारी जिदंगी में खानपान का काफी गहराई से पड़ता है। अगर हम खानपान सही रखते है तो न केवल स्वास्थ्य अच्छा रहेगा बल्कि शरीर की रोगों से लड़ने की क्षमता भी अच्छी रहेगी। इसके लिए आज अपनी रोज की डायट में तुलसी वाला दूध भी शामिल कर सकते हैं। अमूमन लोग जुकाम, बुखार में राहत के लिए तुलसी वाला दूध पीते हैं। यह हमें कई बीमारियों से बचाता है।

तुलसी के दूध का सेवन करने से इम्युनिटी पॉवर भी मजबूत होती है। इससे कोई भी बीमारी आसानी से शरीर में पनप नहीं पाती है। ह्रदय रोग से पीड़ित लोगों को सुबह खाली पेट तुलसी के दूध का सेवन करना चाहिए। ऐसा करने से उनके ह्रदय का स्वास्थ्य बेहतर हो जाता है।

तुलसी वाले दूध में एंटी-इन्फ्लेमेंटरी और एंटी बैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं। अगर आपको जुकाम हो गया है तो इस दूध का सेवन करना आपके लिए बेहद फायदेमंद रहेगा। यह दूध मेटाबॉलिज्म बढ़ाने में भी मदद करता है जिससे खाना तेजी से पचता है और मोटापा नहीं बढ़ता है।

तुलसी कई गुणों से भरपूर होती है। इसमें एंटीबैक्टीरियल और एंटीबायोटिक के गुण भी पाए जाते हैं। आयुर्वेद में बुखार से पीड़ित होने पर तुलसी का दूध पीने की सलाह दी गई है। इसके अलावा आप उबलते पानी में 6-7 तुलसी की पत्तियां और इलायची पाउडर डालकर उबालकर इसे पी लें। यह भी बुखार कम करने में काफी मदद करेगा।

Check Also

कोरोना से बचना है तो न करें इन चीजों का सेवन, कमजोर हो जाएगी आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता

कोरोना काल में सबसे ज्यादा महत्व रोग प्रतिरोधक क्षमता को दिया गया है। जब से कोरोना …