सीवान के शहीद सराय में अमर शहीदों को दी गई श्रद्धांजलि

सीवान, 13 अगस्त ( हि.स.)। स्वतंत्रता की लड़ाई के दौरान अंग्रेजों भारत छोड़ो आंदोलन के समय 13 अगस्त 1942 को सीवान शहर के जुबली पार्क , वर्तमान नाम शहीद सराय में एक सभा के दौरान अंग्रेजों की गोली से शहीद होने वाले तीनों अमर शहीदों को शनिवार को श्रद्धांजलि दी गई।

उल्लेखनीय है कि स्वतंत्रता आंदोलन में 13 अगस्त 1942 को अंग्रेजों के खिलाफ सीवान शहर के तत्कालीन जुबली पार्क में एक सभा की जा रही थी, तभी अंग्रेजों ने सभा को तितर बितर करने के लिए अंधाधुध गोलीबारी कर दी। उस गोलीबारी में झगरू शाह , छठ्ठू गिरी एवं बच्चन प्रसाद शहीद हो गए थे। आजादी के बाद उक्त तीनों शहीदों के पूण्य स्मृति में तत्कालीन जबुली पार्क का नाम बदल कर शहीद सराय कर दिया गया है।

स्वतंत्रता की अमृत महोत्सव के पावन अवसर पर शनिवार को पूर्व नगर पार्षद देवेन्द्र गुप्ता के नेतृत्व में सीवान सुबह एक कार्यक्रम में कर के सीवान के इन तीनों अमर शहीदों को श्रद्धांजलि दी गई। इस मौके उपस्थित लोगों ने शहीद सराय स्थित शहीद स्मृति स्तंभ पर पुष्पांजलि अर्पित कर शहीदों को श्रद्धांजलि दी।

इस अवसर पर मीडिया से बातचीत करते हुए स्वतंत्रता आंदोलन में सीवान के शहीदों पर शोध कर सूचीबद्ध करने वाले पत्रकार डॉ अमित कुमार मोनू ने कहा कि आजादी की लड़ाई में केवल 1942 में ही सीवान जिले में आधे दर्जन से अधिक लोगों ने अपनी शहादत दी थी। वहीं देवेन्द्र गुप्ता ने कहा कि सीवान का यह शहीद सराय हमा सीवान वासियों के लिए एक पूण्य भूमि है।

Check Also

1098901-nitishtejashwizee

‘Rift’ in Bihar’s Mahagathbandhan:छोटे दलों ने की समन्वय समिति के गठन की मांग

पटना: बिहार में सत्तारूढ़ महागठबंधन के छोटे घटक दलों ने बुधवार को गठबंधन की दो सबसे …