छत्तीसगढ़ के मशहूर कोरियोग्राफर व कलाकार निशांत के निधन पर दी श्रद्धांजलि

रायपुर, 23 जून (हि.स.)। छत्तीसगढ़ी फिल्म इंडस्ट्री के मशहूर कोरियोग्राफर और कलाकार निशांत उपाध्याय का बुधवार देर रात शहर के एक निजी अस्पताल में इलाज के दौरान निधन हो गया। निधन की खबर से छत्तीसगढ़ी फिल्म इंडस्ट्री में शोक की लहर है। बताया गया बीते कुछ दिनों से निशांत का स्वास्थ्य ठीक नहीं चल रहा था, उन्हें पीलिया भी हो गया था। निशांत उपाध्याय के फेसबुक अकाउंट से उनके निधन की जानकारी दी गई है।

मुख्यमंत्री के अलावा अन्य राजनेताओं ने निशांत को दी श्रद्धांजलि : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने छत्तीसगढ़ी फिल्म इंडस्ट्री के सुप्रसिद्ध कोरियोग्राफर व कलाकार निशांत उपाध्याय के निधन पर गहरा दुख व्यक्त करते हुए छत्तीसगढ़ी फिल्म इंडस्ट्री के लिए बड़ी क्षति बताया। वहीं संस्कृति मंत्री अमरजीत भगत ने निशांत उपाध्याय के निधन पर शोक प्रकट किया। उन्होंने कहा कि, निशांत का जाना छत्तीसगढ़ी फिल्म जगत के लिए अपूरणीय क्षति है। वहीं विधानसभा नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने भी छत्तीसगढ़ी सिनेमा के निशांत के निधन पर कहा कि, हमने अपने माटी के एक प्रतिभावान कलाकार को ही खो दिया है। उनके छत्तीसगढ़ सिनेमा में दिये गये अनुकरणीय योगदान को हमेशा याद किया जायेगा।

जानकारी के अनुसार, निशांत उपाध्याय की फेसबुक प्रोफाइल पर देर रात पोस्ट आई जिसने उनके चाहने वालों को झकझोर का रख दिया। पोस्ट में लिखा था, अलविदा मेरे दोस्त हमारा साथ बस यहीं तक था।

निशांत अब शांत हो गया- पद्मश्री और अभिनेता अनुज शर्मा ने अपने फेसबुक पेज पर लिखा कि निशांत अब शांत हो गया… अब शूटिंग मे मेरे टिफिन को कौन शेयर करेगा ? मेरी जिन्दगी मे तेरी कमी कोई कभी पूरी नहीं कर पाएगा लल्ला…तुम जैसा न कोई था, न कोई है और न कोई होगा…जिसने लाखों दिलों को अपनी अदा से जीता, जिसने छत्तीसगढ़ी सिनेमा को ऊंचाईयों तक पहुंचाया, जिसने सबसे ज्यादा बेस्ट कोरियोग्राफर का अवार्ड जीता। हजारों गानों का नृत्य-निर्देशन किया, छोटे-बड़े हर कलाकार और निर्माता-निर्देशक के साथ काम किया…अलविदा मेरे भाई।

निशांत ‘ न भूतो न भविष्यति. –

छ.ग.फिल्म निर्माता मनोज वर्मा ने फेसबुक पर निशांत के साथ अपनी पुरानी तस्वीर साझा करते हुए लिखा कि ‘ निशांत ‘ न भूतो न भविष्यति… तेरे जैसा कोरियोग्राफर ना पहले कभी देखा है ना शायद कभी देख पाएंगे हर बार लड़ लड़कर बाहर आ जाता था… तो इस बार क्यों हार गया.. हम सब को पूरा विश्वास था कि तू इस बार की जंग भी जीत जाएगा … भगवान पुण्य आत्मा को शांति प्रदान करें ओम शांति।

फिल्म निर्माता रॉकी दासवानी ने फेसबुक पर निशांत को श्रद्धांजलि देते हुए लिखा कि हमेशा यादों में रहोगे निशान्त…

उल्लेखनीय है कि, निशांत ने अपने फिल्मी करियर की शुरुआत वर्ष 1999 में फिल्म झन भूलो मा बाप ला से की थी,जिसके बाद वह कभी नहीं रुके और एक से बढ़कर फिल्मो में बतौर कोरियोग्राफर काम किया। निशांत के नाम सबसे अधिक छत्तीसगढ़ी गानों की कोरियोग्राफी करने का रिकॉर्ड है। उन्होंने करीब 25 सौ से अधिक एलबम और फिल्मों में गाने कोरियोग्राफ किए थे, उन्हें छत्तीसगढ़ फिल्म जगत का नंबर 1 कोरियोग्राफर माना जाता था। निशांत उपाध्याय एक शानदार कोरियोग्राफर होने के साथ एक अभिनेता भी थे। हाल ही में रिलीज़ फिल्म “भूलन द मेज “उनका अंतिम फिल्म था। निशांत को छालीवुड जगत के कलाकार श्रद्धांजलि दे रहे हैं।

Check Also

एक मूर्ति लेकिन दो मंदिर! क्या है महाभारत काल के इस रहस्यमयी मंदिर का रहस्य?

मुंबई: भारत में कई तरह के मंदिर हैं. जिसकी अलग-अलग बनावट और विशेषताएं हैं। जो हमेशा लोगों को …