Travel Special: आप भी हैं कॉफी लवर? तो भारत की इन खूबसूरत जगहों पर घूमना ना भूलें…

आज के वक्त में हम अक्सर लोगों के मुंह से सुनते हैं कि हम चाय नहीं पीते लेकिन कॉफी पीते हैं. कॉफी के चाहने वालों के लिए एक कप कॉफी चाहें वे ज्यादा मीठी, डिकैफिनेटेड या कोल्ड हो, हर तरह से जान से प्यारी होती है. हालांकि ज्यादा कॉफी के सेवन सेहत के लिए नुकसानदायक होता है. ऐसे में आज हम आपको कॉफी के उन बागानों के बारे में बताएंगे जहां आप कभी भी लुफ्त उठा सकते हैं.
 वायनाड, केरल का बेहद खूबसूरत प्लेस हैं. यहां अक्सर लोग घूमने जाते हैं. लेकिन रोमांस के अलावा ये जगह  भारत के कॉफी जगहों में से एक है. आप यहां कॉफी के हरे भरे बागानों का लुफ्त उठा सकते हैं
वायनाड, केरल का बेहद खूबसूरत प्लेस हैं. यहां अक्सर लोग घूमने जाते हैं. लेकिन रोमांस के अलावा ये जगह भारत के कॉफी जगहों में से एक है. आप यहां कॉफी के हरे भरे बागानों का लुफ्त उठा सकते हैं
 कूर्ग को कर्नाटक की शान कहा जाता है, लेकिन यह कई कॉफी बागानों का घर है, जो अरेबिका और रोबस्टा का उत्पादन करते हैं. अगर आप यहां घूमने का प्लान कर रहे हैं तो  नवंबर का महीना बेहतरीन है. यहां हर किसी को एक बार जाना चाहिए.
कूर्ग को कर्नाटक की शान कहा जाता है, लेकिन यह कई कॉफी बागानों का घर है, जो अरेबिका और रोबस्टा का उत्पादन करते हैं. अगर आप यहां घूमने का प्लान कर रहे हैं तो नवंबर का महीना बेहतरीन है. यहां हर किसी को एक बार जाना चाहिए.
कर्नाटक का  चिकमगलूर अपने खूबसूत नजारों के लिए पर्यटकों के बीच फेमस है. आपको बता दें कि कुर्द से कुछ घंटों की दूरी पर बसा यहां ब्रिटिश राज के दौरान  भारत में पहली बार कॉफी की शुरूआत हुई थी. यहां कई तरह के कॉफी के बागान मौजूद हैं.
कर्नाटक का चिकमगलूर अपने खूबसूत नजारों के लिए पर्यटकों के बीच फेमस है. आपको बता दें कि कुर्द से कुछ घंटों की दूरी पर बसा यहां ब्रिटिश राज के दौरान भारत में पहली बार कॉफी की शुरूआत हुई थी. यहां कई तरह के कॉफी के बागान मौजूद हैं.
अरकू, आंध्र प्रदेश का एक खूबसूरत प्लेस हैं. आपको बता दें कि यहां हजारों आदिवासी कॉफी की खेती का  पर ही निर्भर हैं. ऐसे में अगर आप कभी अरकू जाएं  तो यहां के स्थानीय लोगों द्वारा उगाई जाने वाली जैविक कॉफी का स्वाद जरूर लें.
अरकू, आंध्र प्रदेश का एक खूबसूरत प्लेस हैं. आपको बता दें कि यहां हजारों आदिवासी कॉफी की खेती का पर ही निर्भर हैं. ऐसे में अगर आप कभी अरकू जाएं तो यहां के स्थानीय लोगों द्वारा उगाई जाने वाली जैविक कॉफी का स्वाद जरूर लें.
यरकौड  तमिलानाडु में बसा है, ये दक्षिण भारत का गहना कहा जाता है, दरअसल यहां कई कॉफी के बागान हैं, अगर आप कभी यहां घूमने जाएं तो कॉफी के बागान का लुफ्त एक बार जरूर उठाएं. कहते हैं कि यह एमएसपी कॉफी का भी घर है, जो अब तक का पहला भारतीय स्वामित्व कॉफी बागान है.
यरकौड तमिलानाडु में बसा है, ये दक्षिण भारत का गहना कहा जाता है, दरअसल यहां कई कॉफी के बागान हैं, अगर आप कभी यहां घूमने जाएं तो कॉफी के बागान का लुफ्त एक बार जरूर उठाएं. कहते हैं कि यह एमएसपी कॉफी का भी घर है, जो अब तक का पहला भारतीय स्वामित्व कॉफी बागान है.

Check Also

हाथ को सैनिटाइजर करने के बाद, कभी न करे ऐसी गलती

सैनिटाइजर का इस्तेमाल कोरोना वायरस से बचने के लिए किया जा रहा है। हाथों को …