Tokyo Olympics: भारत लौटते ही मीराबाई को मिली बड़ी खुशखबरी! पुलिस में इस बड़े पद पर हुई नियुक्ति

नई दिल्ली: टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympics) में मीराबाई चानू (Mirabai Chanu) ने इतिहास रच दिया. 26 साल की चानू ने वेटलिफ्टिंग (Weightlifting) की 49 किलोग्राम कैटेगरी में सिल्वर जीता. देश का सीना गर्व से चौड़ा करने वाली मीराबाई के लिए अब एक खुश खबर सामने आई है.

मणिपुर पुलिस में होंगी एसपी

मणिपुर के मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह ने सोमवार को घोषणा की कि टोक्यो ओलंपिक में रजत पदक जीतने वाली भारोत्तोलक मीराबाई चानू को राज्य पुलिस विभाग में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक के रूप में नियुक्त किया जाएगा. मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार उन्हें एक करोड़ रुपये का इनाम भी देगी. सिंह ने कहा कि 49 किलोग्राम वर्ग में रजत पदक जीतने वाली  इस  ओलंपियन के पास अब अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (खेल) का पद होगा.

विश्व स्तरीय भारोत्तोलन अकेडमी होगी स्थापित

 

उन्होंने कहा कि मणिपुर सरकार ने  जल्द ही राज्य में विश्व स्तरीय भारोत्तोलन अकेडमी स्थापित करने का फैसला किया है. सिंह ने कहा कि जुडोका एल सुशीला देवी को भी कांस्टेबल के पद से उपनिरीक्षक के पद पर पदोन्नत किया जाएगा. उन्होंने घोषणा की कि टोक्यो ओलंपिक में भाग लेने वाले राज्य के सभी प्रतिभागियों को 25 लाख रुपये की राशि दी जाएगी. चानू, सुशीला और दिग्गज मुक्केबाज मैरीकॉम सहित मणिपुर के कम से कम पांच खिलाड़ी मौजूदा टोक्यो ओलंपिक में देश का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं.

मीराबाई चानू ने रचा इतिहास

मीराबाई चानू (Mirabai Chanu) ओलंपिक में सिल्वर जीतने वाली पहली भारतीय वेटलिफ्टर बन चुकी हैं. उन्होंने क्लीन और जर्क में 115 किलोग्राम और स्नैच में 87 किलोग्राम मिलाकर कुल 202 किलोग्राम वजन उठाया और सिल्वर मेडल अपने नाम किया. वेटलिफ्टिंग (Weightlifting) में भारत को 21 साल बाद कोई मेडल मिला है.  इससे पहले कर्णम मल्लेश्वरी (Karnam Malleswari) ने सिडनी ओलंपिक 2000 (Sydney Olympics 2000) में देश को वेटलिफ्टिंग (Weightlifting) में ब्रॉन्ज दिलाया था.

Check Also

आस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम ने भारत को पहले वनडे में नौ विकेट से हराया

भारतीय बल्लेबाज एक बार फिर बड़ा स्कोर बनाने में नाकाम रहीं, जबकि गेंदबाज भी प्रभाव …