खयराशोल में टीएमसी की गुटबाजी खुलकर आई सामने, कंचन अधिकारी ने कोर कमिटी से दिया इस्तीफा

बीरभूम, 03 फरवरी(हि. स.): बीरभूम जिले के खयराशोल में एक बार फिर तृणमूल कांग्रेस का आपसी कलह खुलकर सामने आ गया है। शुक्रवार अपराह्न हुई बैठक के बाद टीएमसी के पूर्व ब्लॉक अध्यक्ष कंचन अधिकारी ने कोर कमिटी से खुद को अलग कर लिया। उनका दावा है कि एक भ्रष्ट नेता को कोर कमेटी का संयुक्त संयोजक बनाया गया है। इसलिए उन्हें इस्तीफा देने पर मजबूर होना पड़ा।

उल्लेखनीय है कि कुछ दिन पहले प्रदेश तृणमूल कांग्रेस के निर्देश के बाद कंचन अधिकारी को खयराशोल के ब्लॉक अध्यक्ष पद से हटा दिया गया था। नये ब्लॉक अध्यक्ष के रूप में किसी की नियुक्ति नहीं की गयी। इसके बदले खयराशोल ब्लॉक के पांच तृणमूल सदस्यों की एक कमेटी बनायी गयी। इन पांच सदस्यों में कंचन अधिकारी, कंचन दे, केदार घोष, श्यामल गायेन और उज्ज्वल कादरी शामिल हैं।

इस बीच शुक्रवार को खयराशोल ब्लॉक तृणमूल कार्यालय में जिला कोर कमेटी की बैठक हुई। बैठक में जिला कोर कमेटी सदस्य चंद्रनाथ सिन्हा, बिकास रायचौधरी व सुदीप्त घोष उपस्थित थे। यहीं पर कुछ सदस्यों को कोर कमेटी में एक नए पद पर पदोन्नत किया गया । केदार घोष और श्यामल गायेन को संयुक्त संयोजक बनाया गया। लेकिन, कंचन अधिकारी ने इस फैसले पर कड़ी आपत्ति जताई। उन्होंने साफ कर दिया कि वह कोर कमेटी में नहीं रहेंगे जिसे लेकर पार्टी के भीतर कई तरह की कानाफूसी शुरू हो गई है।