टीएमसी सांसद ने शांतनु सेन ने आईटी मंत्री अश्विनी वैष्णव के हाथ से पेपर छीना

नई दिल्लीः गुरुवार को राज्यसभा में हाई ड्रामा हुआ। विपक्ष ने कई मुद्दों पर विरोध प्रदर्शन किया। तृणमूल कांग्रेस के सांसद शांतनु सेन ने इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री अश्विनी वैष्णव से बयान पत्र छीन लिया, जब वह पेगासस स्नूपिंग विवाद पर बोलने के लिए उठे। सेन ने कागज को फाड़ दिया और उपसभापति की ओर फेंक दिया।

हंगामे के कारण राज्यसभा की बैठक बृहस्पतिवार को दो बार के स्थगन के बाद अंतत: दिन भर के लिए स्थगित कर दी गई। हंगामे के कारण सूचना और प्रौद्योगिकी मंत्री अश्विनी वैष्णव ”पेगासस विवाद” पर अपना बयान ढंग से नहीं दे सके। उन्हें इसे सदन के पटल पर रखना पड़ा। हंगामे की वजह से शून्यकाल और प्रश्नकाल भी नहीं चल सके।

सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री अश्विनी वैष्णव कथित फोन टैपिंग मुद्दे पर बयान देने वाले थे। जैसे ही बोलने के लिए उठे, विपक्षी सांसद सदन के वेल में पहुंचे और सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। उपसभापति हरिवंश ने विरोध करने वाले सांसदों से अपनी-अपनी सीटों पर वापस जाने और मंत्री को अपना बयान पूरा करने का आग्रह किया।

जैसे ही वैष्णव ने बयान देना शुरू किया, टीएमसी सांसद शांतनु सेन अपनी सीट पर गए और मंत्री से कागज छीन लिया और उसे फाड़ दिया, इस तरह उन्हें बोलने से रोक दिया। इसके बाद सभापति ने सदन की कार्यवाही कल सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दी। इससे पहले आज, विपक्षी सांसदों द्वारा पेगासस स्पाइवेयर और अन्य का उपयोग करके कथित तौर पर जासूसी करने के मुद्दों को उठाए जाने के बाद सदन को दो बार स्थगित कर दिया गया था।

पेगासस सॉफ्टवेयर के जरिये भारतीयों की जासूसी करने संबंधी खबरों को सरकार ने पहले ही सिरे से खारिज कर दिया है। वैष्णव ने पिछले दिनों लोकसभा में कहा था कि संसद के मॉनसून सत्र से ठीक पहले लगाये गए ये आरोप भारतीय लोकतंत्र की छवि को धूमिल करने का प्रयास हैं।

इससे पहले दोपहर 12 बजे जैसे ही सदन की कार्यवाही आरंभ हुई उपसभापति हरिवंश ने प्रश्नकाल के लिए सदस्य का नाम पुकारा लेकिन विपक्षी सदस्यों ने हंगामा शुरू कर दिया। उपसभापति ने कहा, ”प्रश्नकाल सदस्यों के सवाल के लिए है…सवाल जवाब सदस्यों के लिए बहुत महत्वपूर्ण है…आप सदन नहीं चलाना चाहते…आप अपने-अपने स्थान पर जाएं।”

Check Also

स्मृति ईरानी ने गिनाई ‘मिशन शक्ति’ की खूबियां, ग्रामीण महिलाओं को सशक्त बनाना लक्ष्य

नई दिल्ली: केंद्र की मोदी सरकार ने बताया कि सामुदायिक सहभागिता के जरिये ग्रामीण महिलाओं को …