‘कांग्रेस की दुकान पर ताला लगाने का वक्त आ गया है’, लोकसभा में प्रधानमंत्री मोदी का कांग्रेस पर हमला

पीएम मोदी लोकसभा भाषण: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को संसद के निचले सदन लोकसभा को संबोधित किया। राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर सदन को संबोधित करते हुए उन्होंने विपक्ष पर भी हमला बोला.

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू के बारे में क्या बोले प्रधानमंत्री मोदी?

राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर बोलते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘जब राष्ट्रपति संसद के इस नए सदन में हमें संबोधित करने आए और जिस गरिमा और सम्मान के साथ उन्होंने सेनगोल और पूरे जुलूस का नेतृत्व किया, हम सभी ने उनका अनुसरण किया. उसे। जब नए सदन में ये परंपरा भारत की आजादी के उस पवित्र क्षण का प्रतिबिंब बनती है, तो लोकतंत्र की गरिमा कई गुना बढ़ जाती है।’

 

 

प्रधानमंत्री मोदी ने लोकसभा में तीसरा कार्यकाल मिलने का दावा किया

 

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘पहले कार्यकाल में यूपीए गड्ढे भरता रहा. दूसरे कार्यकाल में नये भारत की नींव रखी गयी। तीसरे कार्यकाल में विकसित भारत का लक्ष्य है। वे विपक्ष के रूप में अपनी जिम्मेदारी निभाने में विफल रहे। मैंने हमेशा कहा है कि देश को एक अच्छे विपक्ष की जरूरत है।’ मैं देख रहा हूं कि विपक्ष के कई लोग चुनाव लड़ने की हिम्मत खो चुके हैं. मैंने सुना है कि कई लोग सीट बदलने की तैयारी में हैं और वे अब राज्यसभा जाना चाहते हैं.’

प्रधानमंत्री मोदी ने विपक्ष पर हमला बोला

प्रधानमंत्री मोदी ने विपक्ष पर हमला बोलते हुए कहा, ‘विपक्ष ने जो संकल्प लिया है, मैं उसकी सराहना करता हूं. इससे मेरा और देश का विश्वास मजबूत हुआ है। उन्होंने लंबे समय तक वहीं रहने का संकल्प लिया है. ‘जनता जनार्दन आपके कई दशकों तक यहां बैठने के संकल्प को पूरा करेगी, जैसे कई दशकों से यहां बैठी है।’

‘एक ही प्रोडक्ट लॉन्च करने के बीच दुकान पर ताला लगाने की नौबत आ गई’

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘एक ही प्रोडक्ट की लॉन्चिंग के बीच दुकान पर ताला लगाने की नौबत आ गई. कांग्रेस की मानसिकता से देश को बहुत नुकसान हुआ है. कांग्रेस ने हमेशा एक परिवार में विश्वास किया है. वे एक ही परिवार के सामने न तो कुछ कर सकते हैं और न ही कुछ सोच सकते हैं।’

‘विपक्ष कब तक समाज को बांटता रहेगा’

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘विपक्ष कब तक समाज को बांटता रहेगा. इन लोगों ने देश को बर्बाद कर दिया है. यह चुनावी साल है, आइए कड़ी मेहनत करें।’ आइए कुछ नया खोजें. वह पुराना पुराना चिथड़ा. आइए मैं भी आपको सिखाऊं।’