TikTok.. बलात्कार और एसिड अटैक को दे रहा उकसावा, महाराष्ट्र में बढ़े मामले, अनिल देशमुख बोले..

मुंबई। कोरोना महामारी के बीच जारी देशव्यापी लॉकडाउन में कई जगहों पर अपराध के ग्राफ में उछाल देखने को मिला है। महाराष्ट्र में इन दिनों अपराध के मामलों की संख्या बढ़ गई है। महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने कहा कि लॉकडाउन शुरू होने के बाद से साइबर अपराधों की संख्या में वृद्धि हुई है। TikTok के माध्यम से, बलात्कार और एसिड हमले को प्रोत्साहित करने वाले वीडियो हाल में तेजी से वायरल हुए हैं। राज्य साइबर अपराध विभाग इस तरह की सामग्री पोस्ट करने वालों के खिलाफ जांच कर रहा है। आरोपियों को पकड़ने की कोशिश जारी है, सभी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। बता दें कि महाराष्ट्र में कोविड-19 के कुल 44582 पॉजिटिव केस मिल चुके हैं। इनमें से 12583 लोग पूरी तरह से स्वस्थ हो चुके हैं या उन्हें छुट्टी दे दी गई है। इस राज्य में अब तक सबसे अधिक 1517 लोगों की जान जा चुकी है।

 

रिश्वत मांगने को लेकर पुलिस उपाधीक्षक तथा तीन अन्य पर मामला दर्ज

महाराष्ट्र में एक पुलिस उपाधीक्षक और तीन अन्य लोगों के खिलाफ एक व्यक्ति की जमानत कराने और उसके बैंक खातों से लेन-देन पर लगी रोक हटवाने के बदले कथित रूप से 12.50 लाख रुपये रिश्वत मांगने के लिये मामला दर्ज किया गया है। ठाणे की भ्रष्टाचार रोधी शाखा (एसीबी) की उपाधीक्षक नीलिमा कुलकर्णी ने बताया कि इन चारों लोगों ने 50 लाख रुपए मांगे थे, लेकिन बाद में रकम घटाकर 12.50 लाख रुपये कर दी। इसके बाद उस व्यक्ति ने एसीबी से संपर्क किया, जिसने मामले की जांच शुरू की । उन्होंने कहा कि जांच के बाद शुक्रवार को यहां शाहपुर में खिनावली पुलिस थाने में भ्रष्टाचार रोकथाम अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया, हालांकि अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं की गई है।

23 प्रवासियों से श्रमिक ट्रेन में सीट दिलाने का वादा कर पैसे ठगे

नवी मुंबई में प्रवासी मजदूरों को विशेष श्रमिक ट्रेनों में सीट दिलाने का वादा करके उनके साथ धोखाधड़ी करने के आरोप में शुक्रवार को तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया । विशेष ट्रेने लॉकडाउन के दौरान फंसे हुए लोगों को उनकी गृह राज्य तक ले जाती हैं। पनवेल थाने के निरीक्षक अजय कुमार लांदगे ने बताया कि तीनों की पहचान हसन सईद, रेहड़ी वाले राघवेंद्र गुप्ता और फल बेचने वाले इरफान महगिर के तौर पर हुई है। उन्होंने यहां पास में वाडघर में नौ मजदूरों, रत्नागिरी के मंडनगड से आए 14 श्रमिको के साथ ठगी की है। यह 14 मजदूर शुक्रवार को बिहार जाने के लिए पैदल पनवेल रेलवे स्टेशन पहुंचे थे। अधिकारी ने बताया कि उन्होंने 23 लोगों से पैसे लिए और उन्हें इंतजार करने को कहा ताकि वे ट्रेन में इंतजाम कर सकें । बहरहाल, पुलिस को इसका पता चल गया और यह भी सुनिश्चित किया कि उन्हें बिहार जाने के लिए ट्रेन में सीट मिले। आरोपियों के पास से तीन हजार रुपये जब्त किए गए।

Check Also

कोरोना: इटली को पीछे छोड़कर 6वें नंबर पर पहुंचा भारत, आंकड़ों में देखें कैसे मुसीबत बन रहा अनलॉक 1

नई दिल्ली. भारत में कोरोना वायरस के संक्रमण के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। भारत में …