‘जिनमें लक्षण नहीं, उनकी टेस्टिंग नहीं’, महाराष्ट्र में कोरोना को लेकर नई गाइडलाइन जारी

महाराष्ट्र में कोरोना का कहर जारी है. संक्रमण के मामले में महाराष्ट्र सबसे ऊपर है. यहां पिछले 24 घंटे में 44,388 केस सामने आए हैं.

हालांकि संक्रमण की रफ्तार में थोड़ी कमी आने के बाद केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से जारी गाइडलाइन के मुताबिक राज्य में जिन लोगों में लक्षण नहीं हैं उनका कोविड टेस्ट महाराष्ट्र में नहीं किया जाएगा लेकिन बीएमसी उनपर नज़र रखेगी.

इस फैसले को लेकर बीएमसी की तरफ से कहा गया है कि अभी शहर में बड़े पैमाने पर सेल्फ कोविड टेस्टिंग किट लेकर जाते हैं लेकिन उसकी जानकारी बीएमसी को नहीं देते है.

इसलिए अब नियम बनाया गया है कि जो भी डिस्ट्रीब्यूटर सेल्फ टेस्टिंग किट लेकर जाते है उसका रिकॉर्ड रखा जाएगा और लोकल बीएमसी वार्ड मेंबर के साथ जानकारी साझा की जाएगी.

बीएमसी ने बताया कि बहुत से सेल्फ टेंस्टिंग किट में पॉजिटिव पाए जाने के बाद लोग जानकारी छुपा लेते हैं. हालांकि राहत की बात ये है कि राजधानी मंबुई में बीते तीन दिनों में कोरोना के मामले कम हुए हैं.

बीएमसी ने इसको लेकर कहा है कि ऐसा नहीं है कि टेस्टिंग कम हो रही है इसलिए मामले कम सामने आ रहे हैं. रोजाना 60 से 70 हज़ार टेस्टिंग हो रही है लेकिन बीएमसी की तरफ से जो कदम उठाए जा रहे है उसका अब असर दिखाई दे रहा है.

एक दिन पहले के आंकड़ों के मुताबिक मुंबई में 30 कंटेनमेंट जोन के अचानक शून्य होने पर महाराष्ट्र कैबिनेट में मंत्री असलम शेख ने बताया कि हर कंटेनमेंट ज़ोन का एक समय होता है. उसकी मियाद खत्म होने के बाद उन्हें खोल दिया जाता है इसी के चलते नंबर जीरो आया है.

Check Also

खुजली, लाल आंखें ओमाइक्रोन संक्रमण का संकेत दे सकती हैं; आप सभी को इस नए लक्षण के बारे में जानने की जरूरत

भले ही ‘उपन्यास’ कोरोनावायरस SARS-CoV-2 हमारे बीच दो साल से अधिक पुराना है, लेकिन इसने …