रोहित शर्मा की ये ‘ट्रिक’, जो बनाएगी भारतीय क्रिकेट की सबसे बड़ी हैट्रिक

वर्ल्ड कप के 13वें सीजन के फाइनल में भारत और ऑस्ट्रेलिया आमने-सामने हैं. ऑस्ट्रेलिया ने 5 बार जबकि भारत ने 2 बार विश्व कप जीता है। भारतीय टीम इस विश्व कप में अब तक लगातार दस जीत दर्ज कर चुकी है। हालांकि इस वर्ल्ड कप में ऑस्ट्रेलिया को अपने पहले दो मैचों में हार का सामना करना पड़ा था. लेकिन इसके बाद इस चैंपियन टीम ने शानदार वापसी की और फाइनल में जगह बनाई.

रोहित ने बल्ले से भी दिल जीतने वाला प्रदर्शन किया

भारतीय टीम तीसरी बार खिताब जीतने की कोशिश में है. भारत ने ग्रुप मैच में ऑस्ट्रेलिया को भी 6 विकेट से हराया जिससे उसका मनोबल काफी ऊंचा है. टीम इंडिया के इस शानदार सफर में कप्तान रोहित शर्मा की सबसे अहम भूमिका रही है. कप्तानी के साथ-साथ रोहित ने बल्ले से भी दिल जीता है. अब रोहित की ये ट्रिक भारत को फाइनल मुकाबले में चैंपियन बना सकती है.

भारत के लिए सबसे अच्छी बात यह होगी कि रोहित शर्मा टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करें. अगर भारत पहले बल्लेबाजी करता है तो रोहित का गेमप्लान साफ ​​हो जाएगा. रोहित पावरप्ले में जोरदार बल्लेबाजी करके कंगारुओं पर शुरुआत में दबाव बनाना चाहते हैं। अगर रोहित तेज शुरुआत करते हैं तो बाकी बल्लेबाजों पर तेजी से रन बनाने का उतना दबाव नहीं होगा और भारतीय टीम बड़ा स्कोर बनाने में सफल रहेगी.

रोहित के तरकश में कई तीर हैं. उनके पास विराट कोहली, गिल, श्रेयस और केएल राहुल के रूप में शानदार बल्लेबाज हैं। जबकि सूर्यकुमार यादव और रवींद्र जड़ेजा फिनिशर की भूमिका बखूबी निभा रहे हैं. गेंदबाजी में मोहम्मद शमी ने छह मैचों में 23 विकेट लिए हैं. जसप्रित बुमरा, मोहम्मद सिराज, कुलदीप यादव और जडेजा ने भी गेंद से अच्छा प्रदर्शन किया है।

क्या यह भारतीय क्रिकेट की सबसे बड़ी हैट्रिक होगी?

यह कहना गलत नहीं होगा कि रोहित शर्मा की कप्तानी कपिल देव की दूरदर्शिता, सौरव गांगुली की आक्रामकता और महेंद्र सिंह धोनी के धैर्य का मिश्रण है। रोहित से पहले कपिल, गांगुली और धोनी के नेतृत्व में भारतीय टीम विश्व कप के फाइनल में पहुंच सकी थी। कपिल देव (1983) और धोनी (2011) ने भी भारत को चैंपियन बनाया। अब अगर रोहित टीम को चैंपियन बनाते हैं तो यह भारतीय क्रिकेट के लिए खिताबी हैट्रिक होगी।

रोहित शर्मा की बल्लेबाजी (विश्व कप 2023 में)

47 रन बनाम न्यूजीलैंड, 15 नवंबर, मुंबई

61 रन बनाम नीदरलैंड, 12 नवंबर, बेंगलुरु

40 रन बनाम दक्षिण अफ्रीका, 5 नवंबर, कोलकाता

4 रन बनाम श्रीलंका, 2 नवंबर, मुंबई

87 रन बनाम इंग्लैंड, 29 अक्टूबर, लखनऊ

46 रन बनाम न्यूजीलैंड, 22 अक्टूबर, धर्मशाला

48 बनाम बांग्लादेश, 19 अक्टूबर, पुणे

86 रन बनाम पाकिस्तान, 14 अक्टूबर, अहमदाबाद

131 रन बनाम अफगानिस्तान, 11 अक्टूबर, दिल्ली

0 रन बनाम ऑस्ट्रेलिया, 8 अक्टूबर, चेन्नई