मकर संक्रांति पर इस बार गंगा स्नान करने वाले श्रद्धालुओं की नहीं लगी भीड़

भागलपुर, 14 जनवरी (हि.स.)।कोरोना के बढ़ते मामले को लेकर जिले के विभिन्न गंगा घाटों पर इस बार मकर संक्रांति शुक्रवार को स्नान करने वाले श्रद्धालुओं की संख्या नाम मात्र की रही।

उल्लेखनीय है कि भागलपुर में कोरोना मरीजों की संख्या तीन सौ के करीब पहुंच चुकी है। आज मकर संक्रांति है। मान्यता है कि मकर संक्रांति के दिन गंगा में स्नान कर पूजा अर्चना करने और दान करने का बड़ा ही महत्व है। इससे सभी पाप धुल जाते हैं। इसी मान्यता को लेकर मकर संक्रांति पर लोग गंगा में स्नान करते हैं। लेकिन कोरोना गाइडलाइन के तहत बिहार सरकार ने इस बार गंगा में स्नान करने के लिए श्रद्धालुओं को सख्त मना किया है।

आज इसका असर भागलपुर के सुल्तानगंज के उत्तरवाहिनी गंगा घाट, बरारी पुल घाट, सीढ़ी घाट, खिरनी घाट, मानिक सरकार घाट, बूढ़ानाथ घाट के साथ-साथ और भी कई घाटों पर देखने को मिला। जहां सामान्य दिनों में हजारों की संख्या में श्रद्धालु स्नान करने आते थे। लेकिन आज मकर संक्रांति होने के बावजूद भी गंगा घाट पर एक दो श्रद्धालु ही स्नान करते दिखे। लोग कोरोना की तीसरी लहर से काफी भयभीत हैं।

Check Also

बिहार को मिला दो पद्म सम्मान, बेगूसराय को गर्व है अपने अर्थशास्त्री शैवाल गुप्ता पर

बेगूसराय, 26 जनवरी (हि.स.)। बिहार में बेगूसराय के सुप्रसिद्ध चिकित्सक और रंगमंच, संस्कृतिक, साहित्य एवं …