यह रत्न बहुत प्रभावशाली होता है, पितृसत्ता के साथ सर्पदंश के प्रभाव को कम करता है; कैसे मानूं

रत्न ज्योतिष प्रकृति द्वारा मनुष्य को दिया गया एक अनूठा उपहार है। प्रकृति के इस आशीर्वाद का सही तरीके से और मंत्रों के बल से मनुष्य अपने जीवन में एक सुनहरा बदलाव ला सकता है। इस रत्न को धारण करने के कई फायदे हैं। अगर आप कुंडलिनी का अभ्यास कर रहे हैं तो इस रत्न को पहनना आपके लिए फायदेमंद होगा।

इसे आप अंगूठी या माला बनाकर पहन सकते हैं। हालांकि जहर मोहरा रत्न धारण करने से पहले किसी ज्योतिषी की सलाह लेनी चाहिए। आज के लेख में, हम जहरमोहरा रत्न या सर्पेन्टाइन स्टोन के बारे में बात करने जा रहे हैं और हम इसके बारे में विशेष रूप से दिल्ली के अंकशास्त्री सिद्धार्थ एस कुमार द्वारा बात कर रहे हैं; आइए जानते हैं-

इन रत्नों को कैसे देखें

जहर मोहरा रत्न का रंग हरा, पीला और आधा सफेद होता है। लेकिन हरा रत्न मनुष्य के लिए अधिक लाभकारी होता है।

कैसे पहनें

जहर मोहरा रत्न को अष्टधातु में जड़कर गले में पीले धागे में धारण करना चाहिए। अगर किसी कारणवश इसे पहनना संभव नहीं है तो जहर मोहरा रत्न की राख को नहाने के पानी में भी मिला सकते हैं।

जहर मोहरा रत्न के लाभ

यह पितृसत्ता के प्रभाव को दूर करने में काफी मददगार साबित होता है। जहर मोहरा रत्न व्यक्ति को नेत्र दोष और सांप के काटने से बचाता है। जहर मोहरा रत्न शरीर के सात चक्रों को संतुलित करने में भी मदद करता है।

जहर मोहरा रत्न व्यक्ति की ध्यान क्षमता को भी विकसित करता है। जहर मोहरा रत्न व्यक्ति के जीवन में मानसिक निराशा को दूर करता है। डायबिटीज जैसी बीमारी में भी ये पथरी फायदेमंद होती है। ये रत्न व्यक्ति की सूक्ष्म दिमागी क्षमता का भी विकास करते हैं।

आपको बता दें कि इस रत्न का उपयोग मुख्य रूप से यूनानी और आयुर्वेदिक औषधि बनाने में किया जाता है। हालांकि, दवा बनाने के लिए केवल शुद्ध रत्नों का ही उपयोग किया जाता है। इसलिए इसका उपयोग हमेशा शुद्धिकरण के बाद ही किया जाता है।

Check Also

27 September 2022 Rashifal

27 September 2022 Rashifal : सूर्य की तरह दिखने वाला राशि चिन्ह का भाग्य, आपका आपका आज का राशिफल

आज का राशिफल 27 सितंबर 2022 Aaj Ka Rashifal 27 September 2022 : आज हम …