ये मसाले ब्लड शुगर लेवल को करते हैं कम

 मधुमेह एक ऐसी स्थिति है जिसमें रक्त में शर्करा का स्तर बढ़ जाता है। मधुमेह से पीड़ित लोगों की संख्या दिन-ब-दिन बढ़ती जा रही है। कई अध्ययनों में यह बात सामने आई है कि डायबिटीज को कंट्रोल करने में खाना बहुत मददगार होता है।आयुर्वेद के मुताबिक हम खाने में जिन मसालों का इस्तेमाल करते हैं उनमें कई बीमारियों को दूर करने की क्षमता होती है। लेकिन अध्ययनों से पता चलता है कि कुछ मसाले ब्लड शुगर को कम करने में भी मदद कर सकते हैं। आइए जानें कि मधुमेह रोगी कौन से मसाले खा सकते हैं। 

दालचीनी

दालचीनी कई औषधीय गुणों से भरपूर मसाले के रूप में काम करती है। अध्ययनों से पता चलता है कि यह रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने में मदद करता है। एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर दालचीनी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में भी मदद करती है। वे हृदय रोगों को रोकने में भी मदद करते हैं।

मेंथी

दिल

मेथी मधुमेह रोगियों के लिए भी फायदेमंद है। फाइबर से भरपूर होने के कारण, मेथी मधुमेह रोगियों के लिए अपने आहार में शामिल करने के लिए सबसे अच्छे खाद्य पदार्थों में से एक है। ये भूख को नियंत्रित करने में भी मदद करते हैं। रोज सुबह मेथी के पानी को उबालकर पीने से वजन आसानी से कम होता है। पेट की चर्बी भी पिघल जाती है। 

चिया के बीज, अलसी के बीज

चिया के बीज और अलसी के बीज विटामिन, प्रोटीन और खनिजों से भरपूर होते हैं। इनमें फाइबर की मात्रा भी अधिक होती है। विशेषज्ञों का कहना है कि चिया के बीज और अलसी के बीज, जो कम पचने योग्य कार्बोहाइड्रेट से भरपूर होते हैं, रक्त शर्करा के स्तर को कम करने में भी मदद कर सकते हैं। 

अदरक

भारतीय खाने में अदरक का होना बहुत जरूरी है। वास्तव में, हमारे स्वास्थ्य के लिए अदरक के सभी फायदे नहीं हैं। अदरक में जिंजरोल और शोगोल नामक यौगिक होते हैं। यह अदरक मेटाबॉलिज्म को तेज करता है। मधुमेह को नियंत्रित करता है। तेजी से वजन कम करने में मदद करता है।

पीला

हल्दी मधुमेह रोगियों के लिए औषधि के समान है। हल्दी को अपना रंग करक्यूमिन नामक रसायन से मिलता है। कई अध्ययन बताते हैं कि यह कई बीमारियों से निजात दिलाने में मदद करता है। शोधकर्ताओं का कहना है कि वे रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने में भी मदद करते हैं। हल्दी रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ाती है। 

Check Also

High Cholesterol: हाई कोलेस्ट्रॉल की ये चेतावनी आपके चेहरे पर दिखती है, इसे बिल्कुल भी इग्नोर न करें

 उच्च कोलेस्ट्रॉल: शरीर में यकृत द्वारा निर्मित वसा को कोलेस्ट्रॉल या लिपिड कहा जाता है। शरीर के …