ये आसान तरीके आपके बच्चे की सर्दी से सुरक्षा करने में है कामयाब

सर्दियों का मौसम आते ही बच्चे सर्दी, जुकाम,गले में इंफेक्शन, अस्थमा, आंखों में इंफेक्शन, त्वचा में लाल दाने, निमोनिया आदि जैसी खतरनाक बीमारियों में फंस जाते है। और इन बीमारियों की चपेट में ज्यादातर बच्चे या बूढ़े ही आते है। क्योंकि इनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता काफी कम होती है। इसलिए ये लोग हर बीमारी में जल्द ही फंस जाते है।
# बच्चे को चिपकाकर रखें: सर्दियों के समय छोटे बच्चे को बचाने के लिए सबसे अच्छा तरीका है अपने शरीर की गर्मी देने के लिए उन्हें अपने शरीर से चिपका कर रखें। इसे कंगारू तकनीक कहा जाता है।
# छाती को ज्यादा ढककर रखना हानिकारक: बच्चे का निचला हिस्सा तापमान के प्रति अधिक संवेदनशील होता है। और तापमान का यही असंतुलन बच्चे को बीमार करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।
# घर का तापमान: बच्चे के पालने पर ऊनी कपड़ों का उपयोग ज्यादा करें जिससे ठंड़ी हवा से बचाया जा सके।
घर के अंदर का तापमान 24-25 डिग्री सेल्सियस के आसपास होना चाहिए।
# ज्यादा गर्म कपड़े न पहनाएं: ठंड से बचाने के लिए बच्चे के शरीर में जैतून या सरसों के तेल की मालिश करें। सबसे पहले उसे सूती वेस्ट पहनाएं, उसके ऊपर थर्मल या बॉडी सूट पहनाएं, उसके बाद कोई जैकेट या स्वेटर पहनाएं।

Check Also

हर मर्ज की दवा हैं कलोंजी, जाने इसके सेवन से होने वाले फायदों के बारे में

भारत की रसोई तरह-तरह के मसालों से भरी रहती है इसलिए हम कह सकते है …