फेफड़े को हेल्दी बनाएं रखने के ये बेहतरीन तरीके

शरीर में ऑक्सीजन पहुंचाने वाले फेफड़ा करता है अगर यही सही से काम न करे तो बहुत सारी परेशनियां होती है। और तो और जीना दूभर हो जाएगा। यदि फेफड़ों में कोई बीमारी हो जाए तो शरीर में ऑक्सीजन की कमी हो सकती है, इसलिए फेफड़ों का हमेशा ख्याल रखना आवश्यक है। फेफड़ों में किसी भी प्रकार की समस्या आने पर निमोनिया, टीबी, कैंसर अस्थमा और ब्रोंकाइटिस जैसी कई बीमारियां हो सकती हैं। ऐसी कई चीजें हैं, जिनके सेवन से फेफड़ों को स्वस्थ रखा जा सकता है।, फेफड़ों के रोग दुनिया की सबसे आम मेडिकल समस्याओं में से एक हैं। जब फेफड़े रोगग्रस्त हो जाते हैं तब कार्बन डाइऑक्साइड निकालने और पर्याप्त ऑक्सीजन ग्रहण करने का काम ठीक से नहीं कर पाते हैं। आइये फेफड़े को स्वास्थ कैसे रखे-

1- लहसुन में एंटी ऑक्सीडेंट काफी मात्रा में पाया जाता है। इसके सेवन से कफ कम हो जाता है। भोजन करने के बाद एक कली लहसुन खाने से फेफड़े साफ होते हैं। लहसुन के सेवन से इम्यून सिस्टम भी मजबूत होता है। रोज सुबह एक कच्ची कली लहसुन की खाने से भी फायदा होगा। इसके अलावा लहसुन खाने से शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा भी कम होती है जो दिल को स्वस्थ रखता है।

2- टमाटर, तरबूज, पपीता, गाजर, शकरकंद जैसे खाद्य पदार्थों में लाइकोपेन पाया जाता है, जो अस्थमा के रोगियों के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है। इसके अलावा इसमें कैरोटीनॉयड और एंटीऑक्सीडेंट भी होता है, जो फेफड़ों के कैंसर से बचाने में सहायक होता है।

3- सभी खट्टे फलों जैसे नींबू, संतरा, कीवी, अंगूर, टमाटर अनानास और स्ट्रॉबेरी आदि में विटामिन सी भरपूर मात्रा में होता है। इन सभी में एंटीऑक्सीडेंट काफी मात्रा में होता है। विटामिन ‘सी’ के सेवन से फेफड़े मजबूत होते हैं। इसके अलावा विटामिन सी शारीरिक मजबूती के लिए भी महत्वपूर्ण होता है। इससे रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है।

4- अक्सर सर्दी जुखाम के समय फेफड़ों में जमा होने वाले कफ को दूर करने के लिए तुलसी के काढ़े का सेवन लाभकारी माना जाता है। तुलसी में भी एंटी ऑक्सीडेंट गुण होता है। तुलसी के पत्तों को सुखाकर उसमें कत्था, मैन्थाल और इलायची बराबर मात्रा में पीस लें और इसमे एक चम्मच पिसी हुई चीनी मिलाकर दिन में दो बार आधा चम्मच खाने से फेफड़ों में जमा हुआ कफ कम होता है।

5- फेफड़ों को मजबूत बनाने के लिए प्राणायाम और योगासन करना काफी अच्छा होता है, इसलिए नियमित प्राणायाम और योगासन जरूर करना चाहिए। फेफडों को मजबूत करने के लिए प्राणायाम सबसे बेहतर इलाज है, क्योंकि इसमें श्वसन प्रक्रिया के दौरान फेंफड़ों में मौजूद सभी गंदगी बाहर निकलती है।

6- फेफड़ों की सुरक्षा के लिए जरूरी है कि धूम्रपान और गुटखा आदि के सेवन से परहेज करें।बढ़ते प्रदूषण के कारण फेफड़ों पर सीधा असर पड़ता है। इसलिए जब भी बाहर जाएं तो मुंह व नाक पर तीन लेयर वाला मास्क जरूर लगाएं।सूर्योदय से पहले वायु में ऑक्सीजन अधिक मात्रा में होती है इसलिए प्रात: कम से कम 30 से 40 मिनट तक ब्रिस्क वॉक जरूर करें।

Check Also

किसी भी रिश्ते को निभाना है तो याद रखें दो पंक्तियों का मंत्र!

आधुनिक तकनीक यह भ्रम पैदा करती है कि दुनिया करीब है या दूर। एक पल में …