सावन में महादेव की पूजा के ये हैं दो खास दिन, करें उपासना मान-सम्मान में होगी वृद्धि

Sawan 2021 Puja: हिंदू धर्म में भगवान महादेव की पूजा के लिए सावन का महीना उत्तम होता है. वैसे तो पूरे माह भगवान शिव की पूजा करने से उनकी कृपा और आशीर्वाद प्राप्त होता है. इसके अलावा सावन सोमवार भी शिव उपासना के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण होता है. परंतु शिव भगवान की पूजा के लिए सावन महीने में दो दिन ऐसे होते हैं. जो बहुत ही ख़ास माने जाते हैं. मान्यता है कि इस दिन भोलेनाथ की पूजा से भक्त के मान-सम्मान में वृद्धि होती है. उनकी कृपा से भक्त के सभी मनोरथ पूरे होते हैं.

सावन के दो दिन शिव पूजा के लिए होते बेहद ख़ास

भगवान शिव शंकर की पूजा के लिए सावन मास का प्रदोष व्रत और चतुर्दशी व्रत बहुत ही खास होते हैं. इस दिन भोलेनाथ की कृपा भक्तों पर बरसती है. जिसमें से सावन का पहला प्रदोष व्रत आज 5 जुलाई को है तथा चतुर्दशी व्रत कल यानी 6 जुलाई को रखा जाएगा. मान्यता है कि इस दिन भगवान भोलेनाथ की विधि-विधान पूर्वक पूजा करने से वे अपने भक्तों पर बहुत जल्द प्रसन्न होते हैं तथा प्रसन्न होकरभक्तों की सभी मनोकामनाएं पूरी होने का आशीर्वाद देते है.

हिंदू धर्म ग्रंथों के अनुसार, प्रदोष व्रत के दिन भगवान शंकर और माता पार्वती की पूजा- अर्चना की जाती है. प्रदोष काल में, जो कि सूर्यास्त के 45 मिनट पहले से शुरू होकर सूर्यास्त के 45 मिनट बाद तक होता है, शिव पार्वती की पूजा की जाती है. वहीं चतुर्दशी तिथि पर शिव भगवान की पूजा चरों पहर की जाती है. धार्मिक मान्यता है कि इन दो दिनों में जल और दूध से शिवलिंग की पूजा व अभिषेक किय जाता है. ऐसा करने से भक्त की सारी बीमारियां दूर होती हैं.

Check Also

जानिए हिंदू पंचांग के अनुसार क्या है शनि ग्रह का राशि परिवर्तन, और प्रभाव

हिंदू पंचांग में ज्योतिष शास्त्र का विशेष महत्व होता हैं। जिसके अनुरूप अपने राशि रहता …