बच्चों में विटामिन डी की कमी के ये होते हैं लक्षण

कई बार बच्चों में भी विटामिन डी की कमी देखी जाती है और इस वजह से उन्हें कई हेल्थ ईशूज का सामना करना पड़ता है. बच्चों के अक्सर बीमार रहने पर पेरेंट्स उन्हें डॉक्टर्स की दवाइयां देते रहते हैं, लेकिन कई मामलों में माता-पिता को उनकी हेल्थ से जुड़ी मेन प्रॉब्लम का पता नहीं होता.

जरूरत से ज्यादा दवाइयों  का सेवन बड़े ही क्या बच्चों को भी नुकसान पहुंचाता है. दरअसल, आज हम बात कर रहे हैं बच्चों में विटामिन डी की कमी की. विशेषज्ञों की मानें तो बच्चे में जन्म से ही विटामिन डी की मात्रा अच्छी होनी चाहिए. देखा जाए तो पहले के समय में नवजात बच्चों मेंविटामिन डीकी कमी को पूरा करने के लिए उन्हें धूप में बैठाया जाता था. साथ ही इस दौरान मालिश भी की जाती थी.

हालांकि अभी भी कई लोग ऐसा करते हैं, लेकिन बदलते लाइफस्टाइल के कारण कई लोग ऐसा करने में सक्षम नहीं हो पाते. दरअसल, बच्चों में विटामिन डी कमी को कई लक्षणों से जरिए जाना जा सकता है. हम आपको ऐसे ही कुछ लक्षणों की जानकारी देने जा रहे हैं.

अगर आपके बच्चों को अक्सर पैरों में दर्द की समस्या रहती है, तो समझ जाइए कि उसमें विटामिन डी की कमी है. दरअसल, हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए शरीर में कैल्शियम की मात्रा सही होनी चाहिए, लेकिन कैल्शियम शरीर में तब तक ऑब्जर्व नहीं होता, जब तक हमारे शरीर विटामिन डी सही मात्रा में उपलब्ध न हो.

अगर आपके बच्चे के स्कैल्प यानी सिर में कहीं पर भी गड्ढा या खोपड़ी कहीं से भी नरम है तो उसमें ये विटामिन डी की कमी का बड़ा लक्षण होता है. ऐसा होने पर हमेशा डॉक्टर की सलाह लें, साथ ही आप उसे रोजाना धूप दिखाकर विटामिन डी की कमी को पूरा कर सकते हैं.

ऐसा भी देखा गया है कि अगर बच्चे को बार-बार कोल्ड या कफ की दिक्कत रहती है, तो ये भी शरीर में विटामिन डी की कमी को दर्शाता है. विशेषज्ञों की मानें तो इसे एक तरह का रिकरंट इंफेक्शन कहा जाता है और इसका बार-बार होना बच्चे की सेहत पर बुरा असर डालता है. बच्चे को ऐसे फूड्स का सेवन कराएं, जिससे उसमें इस जरूरी विटामिन की कमी को पूरा किया जा सके.

जिन छोटे बच्चों को विकास में देरी जैसी गंभीर समस्या का सामना करना पड़ रहा है, उनमें भी विटामिन डी की कमी रहती है. इसके अलावा अगर बच्चा वजन को संभालने में असमर्थ है तो उसके पैरों में सूजन भी देखी जा सकती है. आप अपने बच्चे में ऐसा कुछ भी महसूस करते हैं तो सतर्क हो जाएं.

Check Also

कोरोना से बचना है तो न करें इन चीजों का सेवन, कमजोर हो जाएगी आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता

कोरोना काल में सबसे ज्यादा महत्व रोग प्रतिरोधक क्षमता को दिया गया है। जब से कोरोना …