मामूली कहासुनी पर दो पक्षों में जमकर चले लाठी-डंडे

हरिद्वार, 23 जून (हि.स.)। देर रात्रि माधोपुर गांव में दो पक्षों में जमकर लाठी-डंडे चले। घटना में दोनों पक्षों के 10 लोग घायल हो गए जिन्हें उपचार के लिए रुड़की सिविल अस्पताल में भेजा गया, जहां से डॉक्टरों ने एक घायल युवक की नाजुक हालत को देखते हुए उसे हायर सेंटर रेफर कर दिया है। मौके पर पहुंची पुलिस ने बमुश्किल लोगों को शांत किया।

रुड़की की गंगनहर कोतवाली क्षेत्र में सुबह माधोपुर हजरतपुर गांव के काफी संख्या में ग्रामीणों ने कोतवाली पहुंचकर प्रदर्शन किया था। उन्होंने आरोप लगाया था कि गांव के ही मुकेश नाम का युवक अवैध शराब और सट्टे का कारोबार करता है और पुलिस उसे संरक्षण देती है। लोगों का आरोप है कि मुकेश की शिकायत जाति नाम के एक युवक ने कर दी थी जिस पर पुलिस की ओर से जाति के ऊपर ही झूठे मामले में मुकदमा दर्ज करा दिया गया। बताया जा रहा है कि मुकेश और जाति के बीच पहले से रंजिश चली आ रही है।

बुधवार शाम जाति का छोटा भाई गांव में किसी दुकान से सामान लेने गया था तभी उसकी मुकेश के छोटे भाई से कहासुनी हो गई। मामला गाली गलौज से मारपीट तक पहुंच गया। इस दौरान दोनों पक्षों के काफी संख्या में लोग मौके पर जमा हो गए। देखते ही देखते दोनों पक्षों के बीच जमकर लाठी डंडे चलने लगे, जिसमें दोनों पक्षों के 10 लोग घायल हो गए।

परिजन घायलों को रुड़की सिविल अस्पताल लेकर पहुंचे। साथ ही झगड़े की सूचना पुलिस को दी गई। इस मौके पर पहुंची पुलिस ने झगड़ा कर रहे लोगों को शांत कराया। घायलों में 13 वर्षीय नीतिल , 23 वर्षीय पंकित, 21 वर्षीय सागर, 20 वर्षीय सोनित , 62 वर्षीय काला , 65 वर्षीय महावीर , 37 वर्षीय सुरेंद्र , 50 वर्ष धर्मेंद्र , 27 वर्षीय सत्यवान , 45 वर्षीय बबली और 35 वर्षीय सुरेसो शामिल हैं।

गंग नहर थाना प्रभारी ऐश्वर्य पाल का कहना है कि समय-समय पर मुकेश नाम का व्यक्ति पुलिस को क्षेत्र में होने वाली घटनाओं से अवगत कराता रहता था। जिसको लेकर उसके साथ मारपीट की गई है।अभी पुलिस को तहरीर नहीं मिली है। तहरीर आने पर अग्रिम कार्रवाई की जाएगी।

Check Also

चावल की खेती : अब बाढ़ के पानी में बचेगी धान की फसल, जानें ‘सह्याद्री पंचमुखी’ किस्म के बारे में

धान की बाढ़ प्रतिरोधी किस्म: वर्तमान में किसान विभिन्न संकटों का सामना कर रहे हैं। कभी असमानी तो कभी …