होटल अलकनन्दा से राज्य को मिल रहा 1 लाख प्रतिदिन का राजस्व

हरिद्वार, 23 जून (हि.स.)। उत्तर प्रदेश से उत्तराखंड को बंटवारे में मिले अलकनंदा होटल से अच्छी खासी राजस्व की प्राप्ति हो रही है। उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में दोबारा जीतकर आई भाजपा सरकार के संयुक्त प्रयासों से परिसंपत्ति बंटवारे के बाद उत्तराखंड के हिस्से में आए अलकनंदा होटल से राज्य को हर दिन एक लाख रुपये का राजस्व प्राप्त हो रहा है। यह जानकारी गढ़वाल मंडल विकास निगम की प्रबंध निदेशक स्वाति भदौरिया ने गुरुवार को मीडिया से बातचीत में दी।

प्रबंध निदेशक स्वाति ने बताया कि राज्य गठन के बाद पिछले 21 सालों से उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के बीच परिसंपत्ति बंटवारे का मामला लटका हुआ था। होटल अलकनंदा भी यूपी के कब्जे में था। वर्ष 2017 में पहली बार ऐसा हुआ, जब उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में एक ही पार्टी की सरकार आई। उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री बने योगी आदित्यनाथ और उत्तराखंड में भाजपा के त्रिवेंद्र रावत के मुख्यमंत्री बनने के बाद परिसंपत्ति विवाद सुलझने लगा। इस दौरान राजनीतिक गलियारों में ट्रिपल इंजन का भी जिक्र खूब किया जाता था।

दूसरी तरफ केंद्र, उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में एक ही सरकार होने के चलते लोगों की सबसे ज्यादा उम्मीद परिसंपत्ति बंटवारे को लेकर थी, जो कि पिछले 16 सालों में अलग-अलग राजनीतिक दलों के चलते सुलझ नहीं पाया था। उत्तराखंड में त्रिवेंद्र सिंह रावत के मुख्यमंत्री बनने के बाद पहली दफा उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के बीच परिसंपत्ति के बंटवारे को लेकर सार्थक प्रयास शुरू हुए। इस दौरान पूरे 5 साल इस प्रक्रिया में लग गए और अब एक बार फिर से वर्ष 2022 में जब उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में भाजपा ने दोबारा परचम लहराया तो इन प्रयासों का परिणाम देखने को मिल रहा है।

उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ उत्तराखंड दौरे के दौरान वह अपने पैतृक गांव तो गए, इसके अलावा उन्होंने उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश के बीच परिसंपत्तियों के बंटवारे को लेकर बड़ा कदम उठाते हुए हरिद्वार के अलकनंदा होटल को उत्तराखंड सरकार को सौंपा। तब तक उत्तर प्रदेश पर्यटन विभाग द्वारा इस होटल को संचालित किया जा रहा था। उत्तराखंड द्वारा दी गई जमीन पर बने उत्तर प्रदेश के नवनिर्मित गेस्ट हाउस का उद्घाटन किया। उत्तर प्रदेश से उत्तराखंड को सौंपे गए अलकनंदा होटल का संचालन फिलहाल गढ़वाल मंडल विकास निगम द्वारा किया जा रहा है।

गढ़वाल मंडल विकास निगम की प्रबंध निदेशक स्वाति भदौरिया ने बताया कि बंटवारे के बाद जब से जीएम वीएन को अलकनंदा होटल का संचालन मिला है, तब से इस होटल से अच्छी खासी कमाई हो रही है। उन्होंने बताया कि हर दिन अलकनंदा होटल से तकरीबन एक लाख से ज्यादा राजस्व अर्जित होता है। केवल यही नहीं हरिद्वार में गढ़वाल मंडल विकास निगम द्वारा अपने राही गेस्ट हाउस का भी आधुनिकीकरण किया जा रहा है। अपग्रेड करके इसे लग्जरी होटल के रूप में विकसित किया जा रहा है। इसके बाद हरिद्वार से गढ़वाल मंडल विकास निगम को अच्छा खासा रेवेन्यू मिल पाएगा।

Check Also

तीर्थयात्रा कड़ी सुरक्षा के बीच आज से शुरू होकर 11 अगस्त तक चलेगी

Amarnath Yatra 2022: आज से आधिकारिक तौर पर अमरनाथ यात्रा शुरू हो गई है. पहलगाम आधार शिविर …