महिला की हत्या का खुलासा:संबंध बनाने में नाकाम रहे देवरों ने मारा था विधवा भाभी को, 40 दिन बाद दूसरे गांव के तालाब से मिली थी लाश

 

कैथल में पुलिस की गिरफ्त में महिला की हत्या के आरोपी दो देवर और पड़ोसी युवक। - Dainik Bhaskar

कैथल में पुलिस की गिरफ्त में महिला की हत्या के आरोपी दो देवर और पड़ोसी युवक।

कैथल में एक विधवा महिला की हत्या के मामले में बड़ा खुलासा हुआ है। गुमशुदगी की रिपोर्ट के 40 दिन बाद जहां उसकी लाश एक गांव के तालाब में सीमेंट के पिलर के साथ चेन से बंधी हुई मिली थी, वहीं एक महीने बाद (हत्या को 70 दिन हो चुके) अब पुलिस ने इसके राज से पर्दा उठाते हुए 3 लोगों को गिरफ्तार किया है। इनमें दो देवर भी शामिल हैं। पुलिस के मुताबिक ये दोनों न सिर्फ अपनी भाभी के चरित्र पर शक करते थे, बल्कि खुद के साथ शारीरिक संबंध बनाने का दबाव भी बनाते थे। विरोध करने पर 3 बच्चों की मां इस महिला की हत्या कर दी गई।

कैथल पुलिस अधीक्षक (SP) लोकेंद्र सिंह ने प्रेसवार्ता में बताया कि जिले के गांव कसाण की एक विधवा महिला महिमा (3 बच्चों की मां) 9 जनवरी को सुबह 8 बजे अचानक घर से कहीं चली गई थी। उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट संगरूर जिले के गांव गिलाड़ी निवासी बसाऊराम ने पुलिस में दर्ज कराई थी। 20 मार्च को गांव बड़सीकरी खुर्द के तालाब में एक पिल्लर के साथ चेन से बंधी मिली थी। पहचान उसका सूट सीने वाली एक रिश्तेदार और माता-पिता द्वारा गई थी।

इस मामले की जांच के दौरान पुलिस ने गुरुवार को विधवा के दो देवरों समेत तीन को गिरफ्तार किया है। इस हत्या की वजह के बारे में SP ने बताया कि 2020 में महिला के पति जगभगवान की मौत हो गई थी। इसके बाद महिमा का देवर कंवरभान उससे शादी करना चाहता था, लेकिन इस बात को लेकर वह इनकार करती थी। इतना ही नहीं, बाकी ससुराल वाले भी उसके चरित्र पर शक करते थे। आखिर कंवरभान ने अपने भाई विक्रम और एक पड़ोसी युवक रिंकू के साथ मिलकर अपनी भाभी महिमा की हत्या कर दी।

सबूत मिटाने के लिए शव को सीमेंट के एक पिलर के साथ चेन से बांधकर करीब 14 किलोमीटर दूर दूसरे गांव बड़सीकरी खुर्द के तालाब में फेंक दिया। पुलिस ने इन तीनों को गिरफ्तार करके इनके खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 302, 201 व 120 बी के तहत मामला दर्ज कर लिया है।

 

खबरें और भी हैं…

Check Also

हवाई सफर पर कोरोना का साया:अहमदाबाद, चंडीगढ़, गोवा, अमृतसर और मुंबई जाने वाली 8 उड़ानें रद्द, यात्रीभार कम आने के कारण एयरलाइंस कंपनियों ने नहीं किया संचालन

जयपुर एयरपोर्ट पर इन दिनों 41 में से सिर्फ 28 उड़ानें ही संचालित हो रही …