विवाह से पहले मिलायी जाये वर – वधु की कुंडली, नहीं होगा गृह कलेश

इंसान को हर काम वास्तु को ध्यान में रखकर ही करना चाहिए। ज्योतिष एवं वास्तु की दृष्टि से गृह कलह ग्रहों के दोषपूर्ण या अशुभ दशा होने अथवा भवन में एक या अनेक वास्तु दोष होने से भी गृह कलह उत्पन्न होने की संभावना बनी रहती है।
विवाह से पहले मिलायी जाये कुंडली:
ज्योतिष में गृह कलह का निवारण संभावित गृह कलह के निवारण के लिए वर-कन्या के विवाह से पहले अगर सही तरीके से कुंडली में गुणों का मिलान करवा लिया जाये तो अच्छा रहता है। फलित ज्योतिष के अनुसार मंगल, शनि और राहु ग्रहों के विभिन्न भावों में बैठे होने से उन भावों से सम्बंधित रिश्तों में मतभेद और कलह देखा जा सकता है।
 
कुंडली दोष के उपाय:
इसके निवारण के लिए उस दोषपूर्ण ग्रह से सम्बंधित वस्तुओं का दान करने, मंत्र जप, पूजा-पाठ, रत्न या रुद्राक्ष धारण करने से लाभ मिलता है।
घर की शांति:
घर-परिवार में सुख-शांति और प्रेम भाव बनाए रखने के लिए भोजन बनाते समय सबसे पहली रोटी के बराबर चार टुकड़े करके एक गाय को, दूसरा काले कुत्ते को, तीसरा कौए को खिलाना चाहिए तथा चौथा टुकड़ा किसी चौराहे पर रख देना चाहिए। घर के पूजा घर में अशोक के सात पत्ते रखें।

Check Also

Chanakya Niti :परिवार के लिए शुभ हैं ये महिलाएं, जानिए क्या कहती है चाणक्य नीति

चाणक्य नीति: आचार्य चाणक्य (आचार्य चाणक्य) ने अर्थशास्त्र, कूटनीति, राजनीति के साथ-साथ निजी जीवन के बारे …