प्रदर्शनी जनजातीय समाज के अनमोल और सुनहरे विरासत को जानने का एक उत्तम प्रयास: कड़िया मुंडा

खूंटी, 19 नवम्बर (हि.स.)। केंद्रीय संचार ब्यूरो, प्रादेशिक कार्यालय रांची की ओर से खूंटी के बिरसा कॉलेज परिसर में पांच दिवसीय चित्र प्रदर्शनी का शनिवार को समापन हो गया। समापन समारोह में बोलते हुए मुख्य अतिथि पद्मभूषण कड़िया मुंडा ने कहा कि मल्टीमीडिया प्रदर्शनी जनजातीय समाज के अनमोल और सुनहरे विरासत को जानने का एक उत्तम प्रयास रहा। मुंडा ने कहा कि झारखंड के जनजातीय समाज का आजादी के संघर्ष में योगदान का शोध जन जन पहुंचाने का ठोस प्रयास होना चाहिए। उन्होंने कहा कि भगवान बिरसा मुंडा के गांव उलीहातू में बिरसा मुंडा कॉपलेक्स बने जहां शोध के लिए एकेडमी हो, लाइब्रेरी हो और संग्रहालय भी हो।

इस मौके पर समारोह के विशिष्ट अतिथि पद्मश्री मधु मंसूरी ने कहा कि हमें अपने जल, जंगल, जमीन के बचाने का प्रयास लगातार करते रहना चाहिए। इसके लिए हमें सजग रहना चाहिए । उन्होंने अपने लोक गान की प्रस्तुति से हॉल में बैठे सभी लोगों का मन मोह लिया।

इस अवसर पर पत्र सूचना कार्यालय एवं केंद्रीय संचार ब्यूरो के पूर्वी जोन के महानिदेशक भूपेंद्र कैंथोला ने कहा कि प्रदर्शनी के माध्यम से नई पीढ़ी को बहुमूल्य जानकारियां प्राप्त हुई।

उन्होंने कहा कि प्रदर्शनी द्वारा दी गई जानकारियां ज्ञानवर्धक भी है और उपयोगी भी। प्रदर्शनी के माध्यम से यह भी दिखाया गया है जनजातीय समाज के विकास के लिए केंद्र सरकार किस तरह लगातार प्रयासरत है और उनके लिए कई योजनाएं लाई जा रही हैं। कैंथोला ने कहा कि पर्यावरण की रक्षा हम सबकी जिम्मेदारी है।

पीआईबी के अपर महानिदेशक अखिल कुमार मिश्रा और खूंटी कॉलेज की प्रिंसिपल मैडम ने भी जनजातीय गौरव दिवस के अवसर पर लगाए गए प्रदर्शनी को एक बहुत ही सार्थक और लाभदायक पहल बताया।

Check Also

बेंगलुरु में कैमरे में कैद हुई हत्या: केपी अग्रहारा में 6 लोगों के समूह ने पत्थर मार कर की हत्या, घटनास्थल से भागे

बेंगलुरु: कर्नाटक के बेंगलुरु में एक मेडिकल शॉप के बाहर तीन पुरुषों और तीन महिलाओं ने …